खेती के लिए उपयोग किए जाने वाले ट्रैक्‍टर्स की टेस्टिंग प्रक्रिया की समय-सीमा में की गई कमी

आजादी का अमृत महोत्‍सव में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय की बड़ी सौगात

नई दिल्ली: केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय ने खेती के लिए उपयोग किए जाने वाले ट्रैक्‍टर्स की टेस्टिंग प्रक्रिया की समय-सीमा को 9 माह से घटाकर मात्र 75 कार्यदिवस कर दिया है। यह व्‍यवस्‍था देश की स्वतंत्रता के 75वें वर्ष "आजादी का अमृत महोत्सव" के उपलक्ष्य में कृषि क्षेत्र के लिए बड़ी सौगात है। 

भारत में कृषि क्षेत्र में मशीनीकरण को बढ़ावा देने एवं किसानों के लिए उपयुक्‍त ट्रैक्‍टरों की उपलब्‍धता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री  नरेंद्र सिंह तोमर के दिशा-निर्देश पर कृषि एवं किसान कल्‍याण विभाग/मंत्रालय द्वारा यह सकारात्मक कदम उठाया गया है। ट्रैक्टर परीक्षण की नई, प्रभावी एवं शीघ्र परीक्षण प्रक्रिया को लागू करने के लिए कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय द्वारा केंद्रीय कृषि मशीनरी प्रशिक्षण एवं परीक्षण संस्‍थान (CFMTTI), बुदनी तथा अन्य संबंधित अधिकारियों को संशोधित दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं, जो 15 अगस्‍त 2022 से प्रभावी होंगे।   

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

गोविंद सदन दिल्ली के संस्थापक बाबा विरसा सिंह के आगमन दिवस पर गुरमत समागम का आयोजन

साई अपार्टमेंट सेक्टर 71 में लगाया गया टीकाकरण शिविर