कैट ने मॉडल टेनेंसी एक्ट को पुराने किरायेदारों के लिए विपरीत बताया


नई दिल्ली 

दिल्ली में मॉडल किरायेदारी अधिनियम के शीघ्र कार्यान्वयन के मीडिया समाचारों के सन्दर्भ में  कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्सकैटने आज कहा है कि  मॉडल किरायेदारी अधिनियम के  वर्तमान स्वरूप से बड़े पैमाने पर सामाजिक-आर्थिक अशांति पैदा करने और मध्यम वर्ग को प्रभावित करने की संभावना है।  चूंकि यह एक मॉडल अधिनियम है और दिल्ली के बाद यह देश के बाकी हिस्सों में भी लागू होगा इसलिए इसे एक अंशांकित और विवेकपूर्ण तरीके से तैयार करने की आवश्यकता है। कैट के महामंत्री  प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि हम केंद्रीय शहरी विकास मंत्री  हरदीप पुरी से इस पूरे मामले में हस्तक्षेप का आग्रह करेंगे और अपना  पक्ष रखेंगे और हमे पूरा यकीन है कि कैट द्वारा उठाए गए मुद्दों का समाधान किया जाएगा। कैट ने श्री पुरी के साथ मुलाकात के लिए समय मांगा है।

 

व्यापार समुदाय के मुद्दों को सूचीबद्ध करते हुए श्री खंडेलवाल ने कहा कि इससे उन व्यापारी किरायेदारों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगाजिन्होंने दशकों से जिस स्थान से अपना कार्य कर रहे हैं उस जगह को अपने श्रम से गुडविल के लिए तैयार करने में अपना जीवन व्यतीत किया है

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’