नोएडा लोकमंच की लाइब्रेरी में बेहतर शिक्षा सरोकार पर चर्चा

नोएडा । नोएडा लोकमंच बेहतर शिक्षा सरोकार मिशन के जरिये जिले के सरकारी  प्राइमरी व जूनियर हाई स्कूलों में नए प्रयोग के जरिये बच्चो की पढ़ाई के स्तर में सुधार की कोशिश में लगा है। इसी कड़ी को आगे बढाने के लिए भारत सरकार में पूर्व सचिव व गाजियाबाद के पूर्व जिलाधिकारी  चंद्रपाल सिंह ने सोमवार को नोएडा पब्लिक लाइब्रेरी परिसर में बेहतर शिक्षा के बहुआयामी विकास विषय पर अपने विचार व्यक्त किये। उन्होंने अपने जीवन के शुरुआती दिनों को याद करते हुए बताया कि 7 साल की उम्र में उनके पिता का निधन हो गया था। उसके बाद भी उन्होने संघर्ष के साथ अपनी पढ़ाई जारी रखी। वे एमएससी तक हर क्लास में टॉपर रहे। आईपीएस व आईएएस बने। चंद्रपाल सिंह ने  मुश्किल हालात में इंदिरा गांधी की हत्या के दौरान हालात संभालने के दृष्टांत दिए। भारत सरकार में पूर्व सचिव रहे

चंद्रपाल सिंह ने बताया कि जब तक वे गाजियाबाद के कलेक्टर रहे, प्रदेश में नम्बर वन जिला रहा। बहुआयामी शिक्षा पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षकों का बच्चो के प्रति संवेदना के साथ जुड़ने से हर बच्चे की प्रतिभा बाहर निकलती है।

 इस कार्यक्रम में नोएडा लोकमंच के महासचिव महेश सक्सेना ने कहा कि लोकमचंबक उद्देश्य सरकारी स्कूलों के अंदर छिपी प्रतिभा को बेहतर शिक्षा सरोकार के जरिये बाहर लाने का ही है। इसमे प्रशासनिक अनुभव वाले अधिकारियों के शामिल होने से मुहिम तेज होगी। 

कार्यक्रम के दौरान गौतमबुद्धनगर जिले के पूर्व सीडीओ रहे मक्खन सिंह ने भी अपने विचार रखे। इस कार्यक्रम में नोएडा लोकमंच के कार्यकारी सचिव आर एन श्रीवास्तव, इंदिरा चौधरी, रघुनंदन, अलका भट्ट, मुकुल वाजपेयी, हेमंत कौशिक, ब्रह्मप्रकाश, मानवेन्द्र सिंह, प्रकाश चन्द्र, मनीषा आदि मौजूद रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव