राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिले केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले



*महाराष्ट्र के हालात को देखते हुए राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग*

नई दिल्ली। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष और भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री  रामदास आठवले ने गुरुवार को  राष्ट्रपति  रामनाथ कोविंद से भेंट की। इस दौरान श्री आठवले ने महाराष्ट्र में कानून व्यवस्था विफल होने की बात कहते हुए माननीय राष्ट्रपति महोदय से राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने का अनुरोध किया।

 श्री आठवले ने  राष्ट्रपति को एक मांग पत्र भी सौंपा। जिसमें कुल पांच बिंदुओं पर मा. राष्ट्रपति का ध्यान आकृष्ट कराया गया है। श्री आठवले ने पत्र में कहा है कि उद्योगपति श्री मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित घर एंटीलिया के पास एक विस्फोटकों से लैस कार मिली थी। इस मामले में 25 फरवरी 2021 को गामदेवी पुलिस स्टेशन में केस दर्ज हुआ है, जिसकी एटीएस और एनआईए जांच कर रही हैं।

इस बीच मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के पत्र से गृहमंत्री अनिल देशमुख द्वारा मुंबई की अपराध शाखा के अधिकारी को सौ करोड़ रुपये वसूली का टारगेट देने का खुलासा होता है। इन घटनाओं से पता चलता है कि महाराष्ट्र में कानून-व्यवस्था बहुत दयनीय और अनियंत्रित है। महाराष्ट्र की जनता को उम्मीद है कि केंद्र सरकार इस गंभीर मामले में कुछ न कुछ ठोस कदम उठाएगी।

श्री आठवले ने कोविड 19 मैनेजमेंट में भी महाराष्ट्र सरकार को विफल बताया। उन्होंने राष्ट्रपति से कहा, "देश भर में कोविड 19 मरीजों की गिनती के अनुसार, महाराष्ट्र में सबसे अधिक कोविड रोगी हैं। सरकार रोगियों का जीवन बचाने के लिए कोई ठोस इंतजाम नहीं कर रही है। उपरोक्त मुद्दों को ध्यान में रखते हुए रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया का राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के नाते और महाराष्ट्र का राज्यसभा में प्रतिनिधित्व करने के लिए मैं  महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग करता हूं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन