हेल्पर की हत्या की जांच में लापरवाही पर उप-निरीक्षक निलंबित

 


- परिजनों के थाने पर प्रदर्शन के बाद हरकत में आया पुलिस प्रशासन


नोएडा। थाना सेक्टर-39 क्षेत्र के सेक्टर-45 में रहने वाले एक युवक के लापता होने के मामले की जांच में लापरवाही बरतने पर पुलिस उपायुक्त ने एक उप-निरीक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।


डीसीपी जोन प्रथम राजेश एस. ने बताया कि विशाल यादव पुत्र राजेश यादव सेक्टर-45 के सदरपुर कॉलोनी में रहते थे। वह जेसीबी पर हेल्पर का काम करता था। उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाना सेक्टर 39 में 20 अगस्त को दर्ज की गई थी। जबकि उसका शव 18 अगस्त को बिसरख थाना क्षेत्र में मिला था। बिसरख थाने की पुलिस ने शव का अज्ञात में अंतिम संस्कार कर दिया था। इस मामले में मृतक के परिजनों ने उप-निरीक्षक पवन कुमार पर जांच में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए थाना सेक्टर-39 के बाहर प्रदर्शन किया था।


उन्होंने बताया कि इस मामले की जांच सहायक पुलिस आयुक्त तृतीय ने की थी। जांच में पाया गया कि उप-निरीक्षक ने कार्य में लापरवाही बरती और सही तरीके से जांच नहीं की। उन्होंने बताया कि जांच के बाद उप-निरीक्षक पवन कुमार को निलंबित कर दिया गया है।