एफआईआर के विरोध में भूख हड़ताल पर बैठे सफाईकर्मी

 मांगें न माने जाने पर दी थी धर्म परिवर्तन की धमकी 


नोएडा। नोएडा प्राधिकरण द्वारा 12 सफाईकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के विरोध में बुधवार को सफाईकर्मी भूख हड़ताल पर बैठ गए। भूख हड़ताल पर बैठे बबलू पारचा और संजय धीमान ने कहा कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाएंगी और मुकदमे वापस नहीं होंगे, तब तक अनशन जारी रहेगी।


गौरतलब है कि सफाईकर्मी नोएडा प्राधिकरण में ठेकेदारी प्रथा को खत्म करने तथा मोबाइल एप से कार्यस्थल की लोकेशन भेजने के विरोध में पिछले कई दिनों से हड़ताल पर हैं। बीते दिनों मांग न माने जाने की स्थिति में सफाई कर्मियों ने धर्म परिवर्तन किए जाने की धमकी दी थी। इस पर संज्ञान लेते हुए मंगलवार की रात नोएडा प्राधिकरण ने थाना सेक्टर-20 में 12 सफाईकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। इससे दूसरे सफाईकर्मी बेहद गुस्से में हैं। 


मंगलवार को संविदा पर कार्यरत सफाईकर्मी सेक्टर-6 स्थित नोएडा प्राधिकरण कार्यालय के बाहर एकत्रित हुए और प्राधिकरण की इस कार्रवाई का विरोध किया। अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस के शाखा अध्यक्ष बबलू पारचा और संजय धीमान भूख हड़ताल पर बैठ गए। बबलू पारचा ने कहा कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जातीं और सफाईकर्मियों पर दर्ज मुकदमे वापस नहीं लिए जाते हैं, तब तक उनकी भूख हड़ताल जारी रहेगी। इस अवसर पर जय प्रकाश पाठक, रवि गहलोत, सुनील, सचिन जीनवाल, संजय गहलोत, सोनू धीमान, दिनेश वाल्मीकि आदि मौजूद थे।