सुन्दर भाटी गैंग के सदस्य सत्यवीर बंसल के 3 साथी गिरफ्तार

 वाहन का ठेका दूसरी कंपनी को देने से नाराज बंसल के गुर्गे गए थे फैक्ट्री कर्मचारियों को धमकाने


ग्रेटर नोएडा। कासना थाने की पुलिस ने वाहन के ठेके के विवाद में फैक्ट्री कर्मचारियों को धमकाने गए सुंदर भाटी गिरोह के सक्रिय सदस्य सत्यवीर बंसल के तीन सार्थियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उनके पास से दो कारें भी जब्त की हैं।


डीसीपी ने बताया कि कुख्यात बदमाश सुंदर भाटी गिरोह के सक्रिय सदस्य सत्यवीर बंसल की जय महालक्ष्मी ट्रांसपोर्ट नाम से ट्रांसपोर्ट कंपनी है। उसकी साइट-5 स्थित पीपीएपी नाम की कंपनी में गाड़ियां लगी हुई थीं। सत्यवीर बंसल पर गैंगस्टर लगने और उसकी गाड़ियों को सरकार के पक्ष में जब्त करने की सूचना के बाद फैक्ट्री प्रबंधन ने सत्यवीर बंसल की कंपनी के स्थान दूसरी कंपनी को ट्रांसपोर्ट का ठेका दे दिया। इस बात से नाराज होकर सत्यवीर बंसल ने कंपनी के कारपोरेट ऑफिस में व्हाट्सएप वॉयस कॉल करके धमकी दी। बाद में अपने साथियों को कंपनी पर भेजा। वहां बंसल के गुर्गों ने पीपीएपी कंपनी के कर्मचारियों को डराया धमकाया। कहा कि किसी अन्य व्यक्ति या ट्रांसपोर्ट की गाड़ियां इस कंपनी में नहीं चलेगी। बदमाशों ने बात न मानने पर जान से मारने की धमकियां भी दीं।


पुलिस अधिकारी ने बताया कि कंपनी की तरफ से सूचना प्राप्त होने के बाद कासना थाने की पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मौके से सत्यवीर बंसल के तीन साथियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मौके से एक स्कॉर्पियो और एक स्विफ्ट डिजायर कार बरामद की है। उन्होंने बताया कि पकड़े गए बदमाशों में कासना निवासी पंकज पुत्र स्व. शौकीन, हाथरस निवासी मनोज चौधरी पुत्र धर्मवीर और कासना के लड़पुरा गांव का निवासी नितिन कुमार पुत्र सूरजभान शर्मा शामिल है।


उन्होंने बताया कि इस मामले में अभी 14 आरोपियों की तलाश की जा रही है। वांछित अभियुक्तों में सुन्दर भाटी मूल निवासी घंघोला, अनिल भाटी मूल निवासी घंघोला, सिंहराज निवासी रामपुर, सत्यवीर बंसल निवासी घंघोला, सुनील बंसल निवासी घंघोला, अनिल पहलवान निवासी इमलिया, मोहित निवासी खानपुर, सतपाल निवासी खानपुर, मोहित निवासी लड़पुरा, दीपक निवासी खैरपुर, देवेंद्र निवासी बिरौंडी, सचिन निवासी इमलिया, अमरिन्दर उर्फ लाला निवासी इमलिया और अरुण निवासी इमलिया शामिल है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव