उद्यमी आदित्य सोनी की हत्याकांड का फरार 25 हजार का इनामी सनी गिरफ्तार

मृतक की राडो घड़ी और हत्या में इस्तेमाल कार बरामद


ग्रेटर नोएडा। कासना थाना क्षेत्र के सेक्टर ओमीक्रॉन-1 निवासी ऑटो पार्ट्स फैक्ट्री के मालिक आदित्य सोनी की हत्या के मामले में फरार चल रहे 25 हजार के इनामी सनी को कासना थाने की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। सिरसा के एचडीएफसी बैंक के पास से गिरफ्तार आरोपी के कब्जे से मृतक की राडो घड़ी, ढाई हजार रुपये की नकदी और हत्या में इस्तेमाल एसेंट कार बरामद की गई है। इस हत्याकांड में शामिल दो आरोपी पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं। 


ग्रेटर नोएडा जोन-3 के एडिशनल डीसीपी विशाल पांडे ने बताया कि सेक्टर ओमीक्रॉन-1 स्थित गौड़ अतुल्यम सोसाइटी में रहने वाले आदित्य सोनी पांच जुलाई को अपने फैक्ट्री गए थे। उसके बाद वह गायब हो गए थे। मामले में आदित्य की मां नीलू सोनी ने कासना थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आदित्य सोनी को आखिरी बार उनके तीन साथियों के साथ देखा गया था। पुलिस ने आदित्य सोनी के दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पता चला कि दोनों ने अपने एक अन्य साथी सनी के साथ मिलकर पहले आदित्य सोनी को पहले शराब पिलाई। नशे में होने के बाद उसकी सोने की चेन, सोने का कड़ा, दो अंगूठी, राडो घड़ी, 7000 रुपये नकद, कंगन और लेडीज चूड़ियां लूटकर उसकी हत्या कर दी थी। पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि हत्या के बाद शव को जमालपुर नहर में फेक दिया था। बाद में आदित्य सोनी का शव जनपद मथुरा में नहर में मिला था। उसकी शिनाख्त परिजनों ने की थी।


एडिशनल डीसीपी विशाल पांडे ने बताया कि पुलिस ने शव को बरामद कर इस मामले में आरोपी देवेश भाटी और पंकज भाटी को पहले ही गिरफ्तार कर आदित्य की लूटी गई शेवरेले कार, सोने की चेन, अंगूठी, कड़ा बरामद कर लिया गया था। इस हत्या का तीसरा आरोपी सनी पुत्र धीरज फरार हो गया था। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने 25 हजार का इनाम घोषित किया था। उन्होंने बताया कि गुप्त सूचना पर पुलिस ने एचडीएफसी बैंक सिरसा के पास से सनी पुत्र धीरज को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने आदित्य सोनी की राडो घड़ी, 2500 रुपये नकद और हत्या में इस्तेमाल कार बरामद कर ली है। 


 


 


 


 


 


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन