भारतीय मजदूर संघ की बैंक यूनियंस का 28  को देश भर में प्रदर्शन

 


नई दिल्ली : भारतीय मजदूर संघ से जुडी बैंक युनियंस जिसमें सरकारी, निजी, ग्रामीण और कोआपरेटिव सेक्टर के बैंक कर्मचारी 28 जुलाई 2020 को देश भर में प्रदर्शन करेंगे । हालंकि बैंक कर्मचारियों के वेतन समझोते पर बैंक यूनियंस और इंडियन बैंक एसोसिएशन में सहमति बन गई है परन्तु पांच दिवस की बैंकिंग और बैंक पेंशनर्स की पेंशन रिविजन के बिना वेतन समझोता अधुरा है।  


भारतीय मजदूर संघ ने सरकार की पब्लिक सेक्टर को बेचने और श्रम कानूनों को समाप्त करने के विरोध में 24 जुलाई 2020 से 30 जुलाई 2020 तक सरकार जगाओ सप्ताह का आह्वाहन किया है। भारतीय मजदूर संघ की फाइनेंशियल सेक्टर जिसमें बैंक और इंश्योरेंस की यूनियंस शामिल हैं के कर्मचारी 28 जुलाई 2020 को देश भर में भारतीय मजदूर संघ के सरकार जगाओ सप्ताह के आन्दोलन में शामिल होंगे। फाइनेंशियल सेक्टर की यूनियंस भारतीय मजदूर संघ की मांगों के साथ अपनी मांगों का एक ज्ञापन भी स्थानीय प्रबंधन के द्वारा प्रधानमंत्री को सोपेंगी। 


हालंकि बैंक कर्मचारियों के वेतन समझोते पर बैंक यूनियंस और इंडियन बैंक एसोसिएशन में सहमति बन गई है परन्तु :


पांच दिवस की बैंकिंग और बैंक पेंशनर्स की पेंशन रिविजन के बिना वेतन समझोता अधुरा है।  


नेशनल ओर्गनाईजेशन ऑफ़ बैंक वर्कर्स सरकार की सरकारी बैंकों को निजी हाथों में सोंपने का भी विरोध कर रहा है। 


क्या सरकार राष्ट्रियकरण के 51 वर्षों के बाद यूटर्न ले रही है।


बैंकों में अभी भी हजारों की संख्या में मृतक बैंक कर्मचारियों के आश्रितों को अनुकम्पा आधार पर नौकरी से वंचित रहना पड रहा है।बैंक कर्मचारियों को भी कोरोना वारियर्स घोषित किया जाये और 50 लाख का बीमा भी करवाया जाए।