साथी हाथ बढ़ाना की टीम ने जरूरतमंदों को दिया राशन

भविष्य में भी करते रहेंगे जरूरतमंदों की मदद : अनिता

 

ग्रेटर नोएडा। कोविड-19 संक्रमण के चलते किया गया लॉकडाउन गरीबों के लिए किसी कयामत से कम नहीं रहा। रोजगार बंद होने से इनके सामने पेट भरने की सबसे बड़ी समस्या पैदा हो गई। ऐसे में गौड़ सिटी-1 के निवासियों ने गरीबों की इस समस्या के समाधान के लिए साथी हाथ बढ़ाना नाम से एक गु्रप बनाया। यह गु्रप लॉकडाउन के पहले दिन से ही थोड़े-थोड़े अंतराल पर जरूरतमंदों को सूखा राशन उपलब्ध करा रहा है। 

 

गु्रप की सदस्य अनिता प्रजापति ने बताया कि लॉकडाउन होने के बाद तमाम लोगों के रोजगार छिन गए। सब कुछ ठप सा हो गया। ऐसा लगा जैसे हर किसी का जीवन की ठहर गया। रोज मेहनत कर रोटी कमाने वालों के सामने पेट भरने की चुनौती खड़ी हो गई। ऐसे में गौड़ सिटी-1 के 06 एवेन्यू के निवासियों ने साथी हाथ बढ़ाना नाम से एक गु्रप बनाया। ग्रुप के सदस्यों ने यह तय किया कि लॉकडाउन खत्म होने तक वे दिहाड़ी मजदूरों, गरीबों और दूसरे जरूरतमंदों के लिए राशन की व्यवस्था करेंगे। 

 

अनिता प्रजापति ने बताया कि गु्रप के सदस्यों ने शुक्रवार को 345 किलो सूखे राशन का वितरण किया। इसमें आटा, चावल, दाल और नमक के साथ साबुन को भी शामिल किया गया। उन्होंने बताया कि यह राशन सोसायटी के सिक्योरिटी गार्ड्स, सफाई कर्मचारी, तिगरी और हैबतपुर गांव के जरूरतमंद लोगों को दिया गया। इससे लगभग 65 परिवार लाभान्वित हुए। उन्होंने भरोसा दिया कि गु्रप के सदस्य आगे भी उनकी सहायता करते रहेंगे। 

 

ग्रुप के एक अन्य सदस्य अमित शर्मा ने बताया कि टीम ने इस पुनीत कार्य को आगे चलाते रहने का निर्णय लिया है। टीम की कोशिश होगी कि भविष्य में भी वे जरूरतमंदों की इसी प्रकार मदद करते रहें। गु्रप में सरोज शर्मा, अंकित शंखधर, गौरव मित्तल, एलजे अस्थाना, दिनेश, अमित मान, अनिता, ममता, वन्दना, निहारिका, रॉबिन, श्रेष्ठ और ऋचा के अलावा भी तमाम लोग शमिल हैं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव