नोएडा इंप्लाइज एसोसिएशन ने सीईओ से की अधिकारियों और कर्मचारियों का कोविड-19 टेस्ट कराने की मांग
 

 

कई कार्यों में तैनात होने के कारण संक्रमण का खतरा

 

नोएडा। शहर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर नोएडा इंपलाइज एसोसिएशन ने प्राधिकरण की सीईओ ऋतु माहेश्वरी से अधिकारियों और कर्मचारियों का कोविड-19 टेस्ट कराने की मांग की। 

 

सेक्टर-6 स्थित एसोसिएशन के दफ्तर में मंगलवार को हुई बैठक में अध्यक्ष चौधरी राजकुमार ने कहा कि मोबाइल फोन निर्माता कंपनी ओप्पो, वीवो और एक मीडिया हाउस में बड़ी संख्या में लोग संक्रमित पाए गए हैं। यह बेहद चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि नोएडा प्राधिकरण के तमाम अधिकारी और कर्मचारी कोरोना संकट से निबटन के लिए जगह-जगह पर तैनात हैं। उन्होंने कहा कि यहां के अधिकारी और कर्मचारी शहर में सेनिटाइजेशन, स्वास्थ संबंधी कार्य, कम्युनिटी किचन, फूड पैकेट वितरण, शेल्टर होम और कॉल सेंटर में तैनात हैं। इनका संपर्क हर दिन सैकड़ों लोगों से हो रहा है। वायरस के अदृश्य होने के कारण इस बात की जानकारी नहीं हो पाती है कि कौन व्यक्ति संक्रमित है। इससे और अधिक भय बना रहता है। उन्होंने कहा कि श्रमिकों को अनुदान राशि दिए जाने के लिए भूलेख, जल और सिविल विभाग की ओर से फार्म भरवाने के लिए भी कर्मचारियों को तैनात किया गया हैं। 

 

अध्यक्ष चौधरी राजकुमार  ने प्राधिकरण की सीईओ से कहा कि आप खुद भी अवगत हैं कि तमाम कार्यों के लिए तैनात होने के कारण अधिकारियों और कर्मचारियों में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बना हुआ है। इसलिए अधिकारियों और कर्मचारियों का कोविड-19 टेस्ट कराई जाए। बैठक में एसोसिएशन के महासचिव महेश चंद, उपाध्यक्ष धर्मेंद्र शर्मा, जितेंद्र कुमार, विवेक प्रजापति व दीपक कश्यप आदि मौजूद थे।