22 मई केे अखिल भारतीय विरोध का समर्थन करेगी सभी वामपंथी पार्टियां

दिल्ली


दिल्ली की सभी वामपंथी पार्टियां 22 मई  को केंद्रीय ट्रेड यूनियन संगठनों द्वारा मज़दूरों की मांगो के समर्थन में जो अखिल भारतीय विरोध का आवाहन किया है उसका पूर्ण समर्थन करती हैं।


कोरोना बीमारी के संकट में केंद्रीय सरकार ने जो प्रवासी मज़दूरों के साथ जो अमानवीय व्यवहार किया हैं हम उसकी सख्त निंदा करते है व माँग करते हैं की इन सभी मज़दूरों को ट्रैन व बसों द्वारा उनके घरों न सिर्फ निशुल्क घर पहुंचाया जाये बल्कि सभी मज़दूरों व गरीबों को तुरंत 7500 रूपये  लगातार तीन महीना तक दिए जाये।आपदा को मज़दूर विरोधी श्रम सुधार का अवसर न बनाते हुए सभी ऐसे श्रमिक विरोधी कानूनों को तुरंत वापिस लिया जाये।
आपदा के काल मै सार्वजनिक उपक्रमों का निजीकरण तुरंत रोका जाये।
सभी मज़दूरों व गरीबों को  तीन महीने का बिना कोई शर्त पूरा राशन जिसमे दालेंए खाने का तेल आदि तुरंत दिया जाये।सरकारी कर्मचारियों का जो डी ए व डी आर को फ्रीज़ किया गया है उसे तुरंत दिया जाय
दिल्ली की सभी वामपंथी पार्टीया केंद्रीय श्रमिक संगठनों की सभी मांगो का समर्थन करते हुए हम सभी वामपंथी कार्यकर्ताओ व समर्थकों से अनुरोध करते है की इस विरोध का पूर्ण साथ दें।