आनलाइन कम्पनियों द्वारा सप्लाई का विरोध करेगा कैट

 


नोएडा
ऑन लाइन कंपनियाँ आगामी 20 तारीख से डिलीवरी चालू कर रही हैं। सोशल मीडिया, प्रिंट मीडिया और डिजिटल मीडिया में इसका लगातार प्रसारण हो रहा है कि कंपनियों द्वारा आवश्यक वस्तुओं के अलावा भी कई प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक व अन्य प्रोडक्ट्स  बेचे जाएंगे। जिसका कन्फैडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स 'कैट' दिल्ली एन सी आर के संयोजक सुशील कुमार जैन द्वारा पुरजोर विरोध किया गया।


 सुशील कुमार जैन द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार एक तरफ देश का व्यापारी सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लगातार सहयोग कर रहा है, तो दूसरी तरफ संकट की इस घड़ी में देश के व्यापारियों की दुकानों को बंद का आदेश देकर विदेशी कंपनियों का निमंत्रण देना देश के व्यापारियों की जीविका छीनने जैसा है। देश का व्यापारी घर बैठे सरकार को सभी टैक्स, किराया, बिजली बिल, कर्मचारियों को तनख्वाह, आदि खर्च, दे रहें हैं और व्यापार भी न करें? टीम कैट दिल्ली एन सी आर  सरकार से मांग करती है कि देश हित में इस निर्णय को वापस लें। 
सुशील कुमार जैन ने  अपील जारी करते हुए सभी व्यापारी बंधुओं से प्रशासन द्वारा जारी सभी निर्देशों का पालन करने की अपील की है। अपने घरों में रहें, स्वस्थ व सुरक्षित रहें। हम लोग सरकार द्वारा व्यापारियो के साथ किये जा रहे अन्यापूर्ण निर्णय का पुरजोर विरोध करते है एवं ऐसे निर्णय को तुरन्त वापिस लेने का अनुरोध करते है। 


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन