शौर्य दिवस के रूप में मनाया गया विजयंत थापर का जन्म दिन


22 वर्ष की छोटी सी उम्र में *अमर शहीद  लेफ्टिनेंट विजयंत थापर के शहादत के 25 वर्ष बाद भी उनके परिवार  ने  हर्षोल्लास व जोश से उनका 47वां जन्मदिन शौर्य दिवस के रूप में मनाया*

नोएडा 

जब जब बात होती है देश व राष्ट्र की प्रति समर्पण और एक जिम्मेदार नागरिक के फर्ज को पूर्ण निष्ठा से निभाने की तो नोएडा शहर के  एक व्यक्तित्व की छवि हम सभी के दिलों दिमाग पर उभर कर अपनी अनुपम आभा में प्रकट हो जाती है, *वह हैं कारगिल के अमर शहीद कैप्टन विजयंत थापर की *।आज *26 दिसंबर को लेफ्टिनेंट विजयंत थापर चौक, सेक्टर 52 पर उनके परिवार ने उनका 47वां जन्मदिन पूरी गर्मजोशी व उल्लास के साथ मनाया* जिसमें *कर्नल वी एन थापर (उनके पिताजी) उनकी माताजी श्रीमती तृप्ता थापर, छोटे भाई विजेंद्र थापर, भाभी रोली वह भतीजी वसुंधरा मौजूद रहे।* इसके साथ *नवरत्न फाउंडेशन्स के अध्यक्ष डॉ. अशोक श्रीवास्तव*, दिल्ली मेट्रो के *सयुंक्त निदेशक ऋषि राज,* कोलकाता की कलाकार श्रीमती कृष्णा देब, शिर्डी से विशेष रूप से आयी रूचि, मोहित के साथ विजयंत चौक के ट्रैफिक कांस्टेबल मुकुल नागर तथा परिवार के अन्य सदस्यों सांग मित्रगण उपस्थिति रहे. 

इस अवसर पर *मिरांडा हाउस के एनसीसी कैडेट्स* ने भी इस कार्यक्रम में शामिल होकर अमर शहीद लेफ्टिनेंट विजयंत थापर को और उनकी शहादत को नमन किया ओर केक भी काटा । *22 वर्ष की छोटी सी उम्र में जिस ऊर्जा और जोश के साथ वह अपनी लड़ाई लड़ते हुए शहीद हुए इस बात की अमर गाथा मिरांडा हाउस की एनसीसी कैडेट्स ने गया* और वहां मौजूद नोएडा के कुछ अन्य निवासियों ने भी स्मरण कर उनके बारे में चर्चाएं की।



एक नया इतिहास लिखकर सन्नाटे में खो गए, 

देश में तुम एक नई ऊर्जा का बीज हो गए ।

कभी नहीं संघर्ष से इतिहास हमारा हारा, 

बलिदान हुए जो वीर जमाo उनको नमन हमारा ।।

तुम्हारी राहों पर हम आज इन्हें चलना सिखाएंगे,

तुम्हारी वीर गाथा को कल नोएडा के बच्चे जाएंगे ।।

शहीद हुए जो सरहद पर उनको नमन हमारा,

नोएडा के ऊपर चमकता है "अमर शहीद विजयंत थापर" सा  सितारा ।।

कार्यक्रम में उपस्थित नोएडा की जनता का जोश देखते ही बन रहा था।

बातों बातों में लेफ्टिनेंट विजयंत थापर की माताजी ने कहा कि- *यूं तो शहीदों पर बातें हर कोई बना लेता है, लेकिन जब बात होती है उनके परिवार संग कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होने की तो नोएडा शहर का हर शख्स हीं हमारे साथ हर संभव कदम मिला खड़ा मिलता है.

जोशपूर्ण इस कार्यक्रम को हर वर्ष यूँ हीं अनवरत करते रहने का सबने आश्वासन दिया।



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*"आज़ादी के दीवानों के तराने* ’ समूह नृत्य प्रतियोगिता में थिरकन डांस अकादमी ने जीता सर्वोत्तम पुरस्कार

सेक्टर 122 हुआ राममय. दो दिनों से उत्सव का माहौल

हर्षोल्लास व उत्साह के साथ मनाया गया 75वां गणतंत्र दिवस सेक्टर 122 में