*14 अप्रैल से शुरू हो रहा शादियों का सीजन व्यापार के लिए साबित होगा लाभकारी*


14 अप्रैल से शुरू तीन महीने में देश भर में लगभग 40 लाख शादियां और उत्तर प्रदेश में लगभग 6 लाख शादियों का अनुमान

 देश मे 5 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का व्यापार होने की संभावनाएं , नोएडा सहित देश के बाजार पूरी तरह तैयार 

नोएडा 

पिछले दो साल से कभी कोरोना के कारण लॉकडाउन तो कभी मंहगाई के कारण ग्राहकों के घर से ना निकलने के कारण व्यापार लगातार प्रभावित हो रहा है। लेकिन इस वर्ष होली के त्योहारी सीजन में लगभग 30 प्रतिशत व्यापार वृद्धि से  हुए जोरदार व्यापार से उत्साहित होकर नोएडा,  सहित देश भर के व्यापारी अब शादी के सीजन की बिक्री की तैयारियों में जुट गए हैं। उम्मीद है की 14 अप्रैल से शुरू होकर 9 जुलाई तक चलने वाले इस शादी के सीजन में  देश भर में लगभग 40 लाख शादियों होने का अनुमान है और इस सीजन में देश मे लगभग 5  लाख करोड़ रुपए से अधिक का व्यापार होगा । यह कहते हुए कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के दिल्ली एन सी आर  संयोजक एवं अध्यक्ष , सेक्टर 18 मार्किट ऐसोसिएशन नोएडा ,  सुशील कुमार जैन  ने कहा की अकेले नोएडा   में ही लगभग 2500 करोड़ रुपए के व्यापार की सम्भावना है ।

सुशील कुमार जैन  ने कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार द्वारा कोरोना के पूरे प्रतिबंध हटने के बाद अब यह पहला मौका है जब नोएडा सहित देश भर के व्यापारी कोरोना से हुए व्यापार के नुकसान की कुछ भरपाई होने की उम्मीद लगाए बैठे हैं। गत दो वर्षों में कोविड एवं शादियों के बेहद कम मुहूर्त के दिन होने तथा सरकार द्वारा लगाए अनेक प्रतिबंधों के चलते शादियाँ बहुत ही छोटे स्केल पर तथा कम संख्या में हुई थी । एक लम्बे अर्से के बाद शादियों के सीजन में मुहूर्त के अनुसार 43 दिन का इस बार शादियों का मुहूर्त आया है।

कैट की आध्यात्मिक एवं वैदिक ज्ञान कमेटी के चेयरमैन तथा देश के विख्यात आचार्य दुर्गेश तारे ने बताया की सनातन धर्म में पुराणों के अनुसार तारों की गणना के हिसाब से अप्रैल महीने में 14 ,15 ,16 , 17 , 19 ,20 , 21 22 , 23 ,24  एवं 27 जबकि मई महीने में 2 , 3 , 9 , 10 , 11 , 12 , 15 , 17 , 19 ,20 , 21 ,26 , 27 एवं 31 तथा जून महीने में  1 , 5 ,  6 , 7 , 8 , 9 , 10 , 11 ,13 , 17 , 23 , 24 एवं जुलाई में 4 ,6 , 7 , 8  एवं 9  है। तारे ने यह भी कहा कि सनातन धर्म के अलावा आर्यसमाज, सिख समाज,जैन  पंजाबी बिरादरी, अन्य धर्मों सहित अन्य अनेक वर्ग हैं जो मुहूर्त के बारे में विचार नहीं करते किंतु फिर भी इस सीजन में ही अन्य अनेक लोग भी शादी करेंगे।

सुशील कुमार जैन  ने बताया की इस तीन महीने के शादी के सीज़न में अनुमान है कि  लगभग 5 लाख शादियों में प्रत्येक शादी में लगभग 2 लाख रुपए खर्च होंगे वहीं लगभग 10  लाख शादियों में प्रति शादी खर्च लगभग 5 लाख प्रति शादी होगा ,10 लाख शादियाँ जिनमें 10 लाख प्रति शादी, 5 लाख शादियां जिनमें 15 लाख रुपये प्रति शादी, 5 लाख शादियाँ जिनमें 20  लाख प्रति शादी , 4 लाख शादी जिनमें 25 लाख प्रति शादी, 50 हज़ार शादियाँ जिनमें लगभग 50 लाख प्रति शादी एवं 50 हजार शादियां ऐसी होंगी जिनमें 1 करोड़ या उससे अधिक धन खर्च होगा। कुल मिलाकर इस एक महीने

के शादी के सीजन में लगभग 5 लाख करोड़ रुपये का प्रवाह बाज़ारों में शादी की खरीदी के माध्यम से होगा।

सुशील कुमार जैन ने कहा की शादियों के सीजन के अच्छे व्यापार की संभावनाओं को देखते हुए देशभर के व्यापारियों ने व्यापक तैयारियां की हैं और होली पर हुए 30 प्रतिशत  कारोबार वृद्धि से उपजे उत्साह को बाज़ारों में बरकरार रखने के सभी प्रबंध किये जा रहे हैं। 

 सुशील कुमार जैन  ने बताया की शादियों के सीजन से पहले जहां घरों की मरम्मत एवं पैंट आदि का व्यापार बड़ी मात्रा में होता है । वहीं ख़ास तौर पर  ज्वेलरी, साड़ियां,लहंगे -चुन्नी, रेडीमेड गारमेंट्स, कपड़े, फुटवियर, शादी एवं ग्रीटिंग कार्ड, ड्राई फ्रूट, मिठाइयां,फल, शादियों में इस्तेमाल होने वाला पूजा का सामान, किराना, खाद्यान, डेकोरेशन के आइटम्स, बिजली का उपयोगी सामान, इलेक्ट्रॉनिक्स तथा उपहार में देने वाली अनेक वस्तुओं आदि का व्यापार बड़ी मात्रा में होने की आशा है।

सुशील कुमार जैन  ने बताया की दिल्ली सहित देश भर में बैंक्वेट हाल, होटल, खुले लॉन, फार्म हाउस एवं शादियों के लिए अन्य अनेक प्रकार के स्थान पूरी तरह तैयार हैं । प्रत्येक शादी में सामान की खरीदारी के अलावा अनेक प्रकार की सर्विस को भी बड़ा व्यापार मिलता हैं जिसमें टेंट डेकोरेटर, फूल की सजावट करने वाले लोग, क्राकरी, कैटरिंग सर्विस, ट्रेवल सर्विस, कैब सर्विस, स्वागत करने वाले प्रोफेशनल समूह, सब्जी विक्रेता, फोटोग्राफर, वीडियोग्राफर, बैंड-बाजा, शहनाई, आर्केस्ट्रा, डीजे, बारात के लिए घोड़े, बग्घी, लाइट वाले सहित अन्य अनेक प्रकार की सर्विस के इस बार बड़ा व्यापार करने की सम्भावना है। इसके साथ ही इवेंट मैनज्मेंट भी एक बड़े व्यापार के रूप में उभरा है ।

आशा है इस बार इन शादियो के चलते बाजारो मे जमकर खरीदारी होगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सुपरटेक टावर के ध्वस्त होने के बाद बढ़ेंगी स्वास्थ्य चुनौतियां, रखें ये सावधानियॉ

गोविंद सदन दिल्ली के संस्थापक बाबा विरसा सिंह के आगमन दिवस पर गुरमत समागम का आयोजन

साई अपार्टमेंट सेक्टर 71 में लगाया गया टीकाकरण शिविर