मुख्‍य खरीफ फसलों के उत्‍पादन का प्रथम अग्रिम अनुमान जारी

खरीफ सीजन में 150.50 मिलियन टन रिकॉर्ड खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान

किसानों- वैज्ञानिकों की मेहनत व सरकार की किसान हितैषी नीतियों से बंपर पैदावार- तोमर 

नई दिल्‍ली: कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय द्वारा 2021-22 के लिए मुख्‍य खरीफ फसलों के उत्‍पादन का प्रथम अग्रिम अनुमान जारी कर दिया गया हैं। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि खरीफ सीजन में 150.50 मिलियन टन रिकॉर्ड खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान है। उन्होंने कहा कि किसानों की अथक मेहनत, वैज्ञानिकों की कुशलता व प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार की किसान हितैषी नीतियों से बंपर पैदावार हो रही है।

प्रथम अग्रिम अनुमानों के अनुसार, 2021-22 के दौरान मुख्‍य खरीफ फसलों के अनुमानित उत्‍पादन इस प्रकार है:

खाद्यान्‍न -150.50 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

चावल– 107.04 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

पोषक/मोटे अनाज– 34 मिलियन टन

मक्‍का – 21.24 मिलियन टन

दलहन – 9.45 मिलियन टन

तूर – 4.43 मिलियन टन

तिलहन – 23.39 मिलियन टन

मूंगफली – 8.25 मिलियन टन

सोयाबीन –12.72 मिलियन टन

कपास – 36.22 मिलियन  गांठें (प्रति 170 कि. ग्रा.)(रिकॉर्ड)

पटसन एवं मेस्‍टा – 9.61 मिलियन गांठें (प्रति 180 कि. ग्रा.)

गन्‍ना –419.25 मिलियन टन (रिकॉर्ड)

2021-22 के लिए प्रथम अग्रिम अनुमान (केवल खरीफ) के अनुसार, देश में कुल खाद्यान्‍न उत्‍पादन रिकॉर्ड 150.50 मिलियन टन अनुमानित है, जो विगत पांच वर्षों (2015-16 से 2019-20) के औसत खाद्यान्‍न उत्‍पादन की तुलना में 12.71 मिलियन टन अधिक है।

2021-22 के दौरान चावल का कुल उत्‍पादन 107.04 मिलियन टन अनुमानित है। यह विगत पांच वर्षों (2015-16 से 2019-20) के औसत उत्‍पादन 97.83 मिलियन टन की तुलना में 9.21 मिलियन टन अधिक है। 

पोषक/ मोटे अनाजों का उत्‍पादन 34 मिलियन टन अनुमानित है, जो कि 31.89 मिलियन टन औसत उत्‍पादन की तुलना में 2.11 मिलियन टन अधिक है। 

2021-22 के दौरान कुल दलहन उत्‍पादन 9.45 मिलियन टन अनुमानित है। यह 8.06 मिलियन टन औसत खरीफ दलहन उत्पादन की तुलना में 1.39 मिलियन टन अधिक है।

2021-22 के दौरान देश में कुल तिलहन उत्‍पादन 23.39 मिलियन टन अनुमानित है जो कि 20.42 मिलियन टन औसत तिलहन उत्‍पादन की तुलना में 2.96 मिलियन टन अधिक है।

2021-22 के दौरान देश में गन्‍ने का उत्‍पादन 419.25 मिलियन टन अनुमानित है। 2021-22 के दौरान गन्‍ने का उत्‍पादन 362.07 मिलियन टन औसत गन्‍ना उत्‍पादन की तुलना में 57.18 मिलियन टन अधिक है।

कपास का उत्‍पादन 36.22 मिलियन गांठें (प्रति 170 किग्रा की गांठे) एवं पटसन एवं मेस्‍ता का उत्‍पादन 9.61 मिलियन गांठें (प्रति 180 किग्रा की गांठे) अनुमानित हैं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव