रायपुर में मेगा फूड पार्क का वर्चुअल शुभारंभ, 25 हजार किसानों को मिलेगा लाभ

 रा


ज्यों के साथ मिलकर कृषि क्षेत्र को समृद्ध 

बनाने में जुटी है केंद्र सरकार- श्री तोमर

10 हजार करोड़ रू. के बजट से प्रधानमंत्री सूक्ष्‍म खाद्य प्रसंस्‍करण उद्यम उन्‍नयन योजना से होगा लाभ

नई दिल्ली: खाद्य प्रसंस्करण उद्योग, कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास तथा पंचायती राज मंत्री  नरेंद्र सिंह तोमर ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल व केंद्रीय राज्य मंत्री  रामेश्‍वर तेली की उपस्थिति में, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्वारा स्वीकृत इंडस बेस्‍ट मेगा फूड पार्क (रायपुर) का वर्चुअल शुभारंभ किया। इस पार्क से छत्तीसगढ़ के अन्य जिलों के लोगों को भी फायदा होगा। इससे 5 हजार व्यक्तियों को प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा और लगभग 25 हजार किसानों को लाभ होगा। समारोह में मुख्य अतिथि श्री तोमर ने कहा कि राज्य सरकारों के साथ मिलकर केंद्र सरकार प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में कृषि क्षेत्र को समृद्ध बनाने में जुटी हुई है। सरकार की पूरी कोशिश है कि किसानों के जीवन स्तर में बदलाव आए व जीडीपी में कृषि का योगदान और बढ़े। इस दिशा में भारत सरकार राज्यों के साथ कदम से कदम व कंधे से कंधा मिलाकर पूरी ताकत के साथ खड़ी है।

श्री तोमर ने कहा कि कृषि व किसानों को समृद्ध बनाने के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री की प्रेरणा से कई योजनाओं का सृजन किया है, जिसके अच्छे परिणाम परिलक्षित हो रहे हैं। कृषि का क्षेत्र देश की अर्थव्यवस्था में बैकबोन की तरह है, यह क्षेत्र बहुत महत्वपूर्ण है। कृषि की अर्थव्यवस्था प्रतिकूल परिस्थितियों में भी हिंदुस्तान की बहुत बड़ी ताकत रही है, जिसे और मजबूती देने के लिए राज्यों के साथ मिलकर केंद्र सरकार पूरी जिम्मेदारी का निर्वहन कर रही हैं। किसानों की फसल बेहतर हो, उत्पादकता बढ़े, प्रोसेसिंग व भंडारण सहित अन्य सभी सुविधाएं तथा अपनी उपज के वाजिब दाम उन्हें मिल सकें, इस दृष्टि से एक अभियान के रूप में काम करना निश्चित रूप से आवश्यक था और अब यह फलीभूत हो रहा है। 

केंद्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि भारत सरकार ने कृषि क्षेत्र के कायाकल्प के लिए रणनीतियां बनाई हैं और खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र के विकास को भी प्रेरित करने के लिए अनेक पहल की हैं। सरकार ने फार्म गेट से प्रसंस्करण केंद्रों तक आधुनिक अवसंरचना सुविधाएं विकसित करने के लिए मेगा फूड पार्क योजना लागू की है। राज्यों में 41 मेगा फूड पार्क स्वीकृत किए गए हैं, जिनमें से 22 मेगा फूड पार्क चालू हो चुके हैं और आज रायपुर में 23वें पार्क का शुभारंभ हुआ है। श्री तोमर ने कहा कि छत्तीसगढ़ को मध्य भारत का "चावल का कटोरा" कहा जाता है। यहां के किसान अब बागवानी की ओर भी प्रवृत्त हो रहे है।

उन्होंने कहा कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय, खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों को बढ़ावा देने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है, ताकि कृषि क्षेत्र तेजी से बढ़े हैं व किसानों की आय दोगुना करने और प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा प्रवर्तित 'आत्‍मनिर्भर भारत' पहल में एक बड़ा योगदान बनें। आत्‍मनिर्भर भारत अभियान के हिस्से के रूप में, मंत्रालय ने मौजूदा सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण उद्यमों के उन्नयन के लिए वित्तीय, तकनीकी व व्यावसायिक सहायता प्रदान करने हेतु "प्रधानमंत्री सूक्ष्‍म खाद्य प्रसंस्‍करण उद्यम उन्‍नयन (पीएमएफएमई) योजना शुरू की है। इस स्कीम पर 10 हजार करोड़ रू. खर्च होंगे। छत्तीसगढ़ के लोगों को इसका ज्यादा लाभ मिल सकता है क्योंकि यहां जागरूकता बढ़ी है, स्वयं सहायता समूहों का काम अच्छा चल है। ये समूह देश के नवनिर्माण में योगदान दें, योजना का लाभ लेने में अग्रणी भूमिका निभाएं। 

अध्यक्षीय उद्बोधन में मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ के हरेक विकासखंड में कम से कम एक फूड पार्क की स्थापना का राज्य सरकार का लक्ष्य है। राज्य सरकार द्वारा वनोपज को संग्रहित करने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं की गई है। कृषि उपज के संबंध में निजी क्षेत्र ने भी संभावनाओं को परखा है, जिन्हें सभी सुविधाएं सरकार देगी।

केंद्रीय राज्‍य मंत्री श्री तेली ने कहा कि मेगा फूड पार्क में विकसित अत्याधुनिक बुनियादी ढांचा व प्रसंस्करण सुविधाओं से न केवल कृषि उत्पादों की बर्बादी कम होगी, बल्कि मूल्यवर्धन भी सुनिश्चित होगा। इससे किसानों, स्वयं सहायता समूहों और सूक्ष्म उद्यमियों को प्लग एंड ऑपरेट आधार पर प्रसंस्करण कार्य करने व पार्क के जलग्रहण क्षेत्र में रोजगार के काफी अवसर पैदा करने का लाभ भी मिलेगा।

छत्‍तीसगढ़ के वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री  कवासी लखमा, क्षेत्रीय सांसद  सुनील सोनी व बलौदा बाजार क्षेत्र के विधायक  प्रमोद शर्मा ने भी संबोधित किया। इंडस बेस्‍ट मेगा फूड पार्क के चेयरमैन कैप्टन रूद्र सेन संधु ने स्‍वागत भाषण दिया। निदेशक मेजर श सत्यपाल संधु ने आभार प्रदर्शन किया। संचालन वरिष्ठ पत्रकार डा. हिमांशु द्विवेदी ने किया। कार्यक्रम में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय की सचिव श्रीमती पुष्‍पा सुब्रमण्‍यम सहित अन्य अधिकारी शामिल हुए।