एन ई ए ने की सीईओ से पैतृक सम्पत्तियों को वारिसों के नाम करने की मांग

पॉवर ऑफ अटार्नी पर ली गई संपत्तियों के मालिक नहीं हो पा रहे हैं वारिस


नोएडा। उद्यमियों की संस्था नोएडा एंटरप्रिन्योर्स एसोसिएशन ने नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी को पत्र भेजकर पैतृक सम्पत्तियों को वारिसों के नाम करने की मांग की है।


सीईओ को लिखे पत्र में एनईए अध्यक्ष विपिन मल्हन ने कहा कि नोएडा में उद्योग, कामर्शियल, हाऊसिंग आवासीय एवं अन्य विभागों में अनेक ऐसी सम्पत्तियां हैं, जो तकनीकी कारणों से वारिसों के नाम नहीं हो पा रही हैं। जिससे वे तो अधर में तो लटके ही हैं, प्राधिकरण को भी राजस्व से वंचित होना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि नोएडा में बहुत सी ऐसी सम्पत्तियां हैं, जो पावर ऑफ अटार्नी पर ली गई थीं। जिन्होंने ली थी, वे अब इस दुनिया में नहीं हैं, जिसके चलते उनके वारिस सम्पत्ति के मालिक नहीं बन पा रहे हैं। 


विपिन मल्हन ने कहा कि पहले समय-समय पर ऐसी योजनाएं आती रहती थीं, जिसमें दोगुना शुल्क और शपथ पत्र आदि लेकर वारिसान को मालिक बना दिया जाता था। अब लम्बे समय से ऐसी कोई योजनाएं नहीं आयी हैं। उन्होंने सीईओ से निवेदन किया है कि पावर ऑफ अटार्नी आदि पर जो सम्पत्तियां हैं और वारिस अब अपने नाम पर कराना चाहते हैं तो ऐसे लोगों के लिए विशेष राहत योजना लाकर लाभ दिया जा सकता है। इससे प्राधिकरण को भी काफी राजस्व प्राप्त होगी।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव