महंगी शिक्षा, किसानों की बदहाली और बेरोजगारी के खिलाफ सपा का प्रदर्शन

राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा


नोएडा। किसानों की बदहाली, महंगी शिक्षा, बेरोजगारी, निजीकरण में भ्रष्टाचार, बीएड परीक्षा में दलितों के निशुल्क प्रवेश पर रोक आदि मुद्दों को लेकर सोमवार को समाजवादी पार्टी नोएडा महानगर के यूथ फ्रंटल प्रकोष्ठों के कार्यकर्ताओं ने सेक्टर-19 स्थित सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय पर प्रदर्शन किया और राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा। 


युवजन सभा नोएडा ग्रामीण के अध्यक्ष अनिल पंडित के नेतृत्व में कार्यकर्ता सुबह सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय पर जमा हुए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए अंदर पहुंचे। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने किसान विरोधी, नौजवान विरोधी यह सरकार नहीं चलेगी, नहीं चलेगी के नारे बुलंद किए। 


इस इस दौरान सपा के पूर्व जिला प्रवक्ता राघवेंद्र दुबे ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हत्या, लूट, बलात्कार की बाढ़ सी आई हुई है। यहां पर बहन बेटियां सुरक्षित नहीं है। कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। किसान आत्महत्या को मजबूर हो रहा है। यूरिया की कालाबाजारी हो रही है और डीजल लगातार महंगा होता जा रहा है, लेकिन किसान विरोधी सरकार को कोई फर्क नहीं पड़ रहा है। दलित छात्रों को उत्तर प्रदेश में हो रही बीएड प्रवेश परीक्षा में निशुल्क प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। इससे छात्रों में रोष है। 


युवजन सभा के अध्यक्ष अनिल पण्डित ने कहा कि निजीकरण में भ्रष्टाचार हो रहा है। युवा बेरोजगार हैं और काम धंधे चौपट हो रहे हैं, लेकिन भाजपा सरकार को हिन्दू मुस्लिम से फुर्सत नहीं है। सरकार के अन्याय को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सपा नेता आश्रय गुप्ता ने कहा कि इस सरकार में विकास कार्य एकदम अवरुद्ध हो गए है । वर्ष-2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में इस सरकार का जाना तय है।


इस अवसर पर सपा नेता देवेंद्र अवाना, नीरज शर्मा, डॉ. आश्रय गुप्ता, नीरज शर्मा, सैयद आफाक अहमद, प्रदीप शर्मा, बलराम पहलवान, हीरालाल यादव, नरेंद्र शर्मा, चिंटू त्यागी, राहुल त्यागी, प्रेमपाल यादव, प्रदीप शर्मा, मोहित पंडित, लखन यादव, बबलू पारचा, अंकित यादव, सचिन यादव, सागर यादव, मोनू खारी, नीतीश बैसोया, देवराज पंडित, जगवीर भाटी, जावेद कुरैशी, शाहिद कुरैशी, मुजम्मिल आदि मौजूद रहे।