कम संसाधनों में उच्चतम कोटि की कोविड केयर सुविधा दे रहा जिम्स : सुरेश खन्ना

कैबिनेट मेंत्री ने दिया संकाय सदस्यों को एसजीपीजीआई के समान वेतन दिलाने का भरोसा


ग्रेटर नोएडा। उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि बेहद कम संसाधनों में गवर्नमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्विज्ञान संस्थान उच्चतम कोटि की कोविड केयर सुविधाएं मुहैया करा रहा है। कैबिनेट मंत्री ने गुरुवार को दादरी विधायक तेजपाल नागर और जिलाधिकारी सुहास एलवाई के साथ ग्रेटर नोएडा स्थित राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (जिम्स) का निरीक्षण के बाद यह बात कही। संस्थान के निदेशक डॉ. राकेश गुप्ता, सीएसएस डॉ. शिखा सेठ और कोविड के नोडल अधिकारी डॉ. सौरभ श्रीवास्तव ने मंत्री का स्वागत किया।


कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना ने जिम्स के आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण किया और वहां भर्ती कोविड के मरीजों से टेलीफोन पर बात कर उन्हें मिल रही सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने मरीजों से सुविधाओं को और बेहतर करने के बाबत भी सुझाव लिए। कैबिनेट मंत्री ने बताया कि कम संसाधनों के बावजूद जिम्स जो कोविड केयर सुविधा उपलब्ध करा रहा है, वह उच्चतम कोटि की है। संस्थान के डाक्टर्स और पैरा-मेडिकल कर्मचारी दिन-रात मरीजों की सेवा में लगे हैं, वह सराहनीय है। 


अस्पताल के निरीक्षण के बाद कैबिनेट मंत्री ने प्रशासनिक भवन में अधिकारियों और संकाय सदस्यों के साथ बैठक की। मंत्री ने संस्थान के संकाय सदस्यों को एसजीपीजीआई के समान वेतन दिलाने और संस्थान के कॉलेज, लाइब्रेरी, छात्रावास भवन के लिए भूमि उपलब्ध कराने का भरोसा दिया। उन्होंने संस्थान संस्थान को कोविड केयर सुविधाओं के लिए अलग से वित्तीय सहायता देने का भी आश्वासन दिया। 


इस अवसर पर संस्थान के वित्त अधिकारी पीडी उपाध्याय, डॉ. रम्भा पाठक, डॉ. शिवानी कल्हन, डॉ. अनुराग श्रीवास्तव, मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह और मुख्य चिकित्सा अधिकारी दीपक ओहरी आदि मौजूद थे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन