कचरामुक्त शहरों की श्रेणी में थ्री स्टार रेटिंग पाने वाला नोएडा यूपी में अकेला 

 उपलब्धि पर डीएम ने दी सीईओ ऋतु माहेश्वरी और उनकी टीम को बधाई

 

नोएडा। नोएडा प्राधिकरण की सीईओ ऋतु माहेश्वरी की मेहनत रंग लाई है। उनके अच्छे काम और शहर को साफ-सुथरा बनाने के प्रयासों के लिए शहरी विकास मंत्रालय ने दिया तोहफा है। यह शहरवासियों के लिए बड़ी खुशखबरी है। शहरी विकास मंत्रालय ने कचरा मुक्त शहरों की श्रेणी में नोएडा प्राधिकरण को थ्री स्टार रेटिंग दी है।

 

शहरी विकास मंत्रालय के सचिव दुर्गाशंकर मिश्र ने ट्वीट कर जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कचरा मुक्त शहर की श्रेणी में नोएडा प्राधिकरण के कार्यों को देखते हुए थ्री स्टार रेटिंग दी गई है। 

 

गौरतलब है कि अपनी तैनाती के समय से ही सीईओ ऋतु माहेश्वरी लगातार शहर को कचरा मुक्त बनाने के लिए का कर रही हैं। डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन, सेक्टरों के बाहर बने कूड़ाघरों को हरियाली पार्क में बदलने और कूड़ा निस्तारण के लिए नोएडा प्राधिकरण निरंतर प्रयासरत है। ऐसे में कचरा मुक्त शहर बनाने की श्रेणी में प्राधिकरण को थ्री स्टार रेटिंग दी गई है। सीईओ प्राधिकरण ऋतु माहेश्वरी ने बताया कि उत्तर प्रदेश में नोएडा एकलौता शहर है, जिसे ओडीएफ ++ और 3 स्टार रेटिंग मिली है।

 

प्राधिकरण की सीईओ ने बताया कि थ्री स्टार रेटिंग के पीछे प्राधिकरण के अधिकारी और कर्मचारियों की मेहनत है। पिछले एक वर्ष में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन, कूड़े का निस्तारण, बायोमिथनाईजेशन प्लांट, 300 कूड़ा घरों को विलोपित किया गया। इसके साथ ही कूड़े की जगह प्लांटेशन और बैरिकेडिंग की गई। मार्केट में पब्लिक टॉयलेट, पिंक टॉयलेट के निर्माण समेत शहर को साफ-सुथरा रखने के लिए कई कार्य किए जा रहे हैं।

 

इस बीच, भारत सरकार द्वारा नोएडा को गार्बेज फ्री सिटी की श्रेणी में तीन स्टार रेटिंग का अवार्ड मिलने पर जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने खुशी जाहिर की है। उन्होंने नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु माहेश्वरी और उनकी पूरी टीम के साथ ही नोएडावासियों को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी है। अपने बधाई संदेश में उन्होंने कहा है कि आगे भी गौतमबुद्ध नगर के निवासियों को इसी प्रकार की उपलब्धियां प्राप्त होती रहेंगी।

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन