9 माह के मासूम को अकेला छोड़कर दंपत्ति ने की आत्महत्या

मरने से पहले निखिल ने एसएमएस से दी थी ग्रेटर नोएडा में रहने वाली बहन को जानकारी


गाजियाबाद के इंदिरापुरम के ज्ञानखंड-1 में हुई हृदय विदारक घटना 


गाजियाबाद। इंदिरापुरम थाना क्षेत्र के ज्ञानखंड में शुक्रवार की सुबह एक हृदयविदारक घटना सामने आई है। यहां एक युवा दंपति ने अलग-अलग कमरों में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। जबकि उनका 09 माह का मासूम घंटों अकेला की बिलखता रहा। इंदिरापुरम थाना क्षेत्र के ज्ञान खंड-1 में शुक्रवार की सुबह पुलिस को सूचना मिली कि फ्लैट में पति-पत्नी ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है। उनका 09 माह का बच्चा रो रहा है। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी भी इस हृदय विदारक दृश्य को देखकर सन्न रह गए।


सीओ अंशु जैन ने बताया कि मूल रूप से बिहार के पटना के रहने वाले 30 वर्षीय निखिल अपनी पत्नी 29 वर्षीय पल्लवी और 09 माह के बेटे के साथ ज्ञान खंड-1 के प्लाट नम्बर 348 के फ्लैट संख्या एस-4 में किराये पर रहते थे। उनकी दो साल पहले ही शादी हुई थी। निखिल एक निजी कंपनी में सेल्स मैनेजर की नौकरी करते थे। निखिल की बहन ग्रेटर नोएडा में रहती है। बहन मुताबिक उसे फोन पर एक एसएमएस मिला, जिसमें बताया गया था कि वे आत्महत्या करने जा रहे हैं। सुबह घर आ जाना। बाबू घर में अकेला रह गया है। 


निखिल की बहन ने बताया कि एसएमएस मिलने के बाद शुक्रवार की सुबह वह ग्रेटर नोएडा से ज्ञानखंड-1 स्थित भाई के फ्लैट पर पहुंची। वहां का दृश्य देखकर उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। भाई निखिल का शव बेडरूम में और भाभी पल्लवी का शव ड्राइंग रूम में फंदे से लटका मिला। वहीं बेड पर उनका 09 माह का बेटा बिलख रहा है। 


बहन की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस अब आत्महत्या के कारणों की जांच कर रही है। सीओ अंशु जैन ने बताया कि पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। इसलिए आत्महत्या का कारण अभी साफ नहीं है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन