एनएफएल ने दर्ज की अप्रैल माह में उर्वरकों की बिक्री में 71 प्रतिशत की रिकार्ड वृद्धि

New Delhi


कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान अति विषम परिस्थितियों के बावजूद रसायन और उर्वरक मंत्रालय के अधीन सार्वजनिक उपक्रम नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (एनएफएल)ने अप्रैल 2020 में उर्वरकों की बिक्री में 71 प्रतिशत की शानदार वृद्धि दर्ज की। अप्रैल महीने में कंपनी ने 3.62 लाख मीट्रिक टन उर्वरकों की बिक्री की जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि में कपंनी ने 2.12 लाख मीट्रिक टन उर्वरकों की बिक्री की थी।कंपनी ने लॉकडाउन की वजह से लॉजिस्टिक सेवाओं के बाधित हो जाने के बीच भी किसानों के लिए उर्वरकों की आपूर्ति जारी रखने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।


एनएफएलके अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री मनोज मिश्रा ने अप्रैल में बिक्री में सबसे अधिक वृद्धि हासिल करने के लिए कंपनी की विपणन टीम के प्रयासों की सराहना की है।


एनएफएल पंजाब में नांगल और बठिंडा,हरियाणा में पानीपत और मध्यप्रदेश के विजयपुर में स्थितसंयंत्र में यूरिया का उत्पादन करती है। कंपनी की 35.68 लाख टन मिट्रिक टन यूरिया की उत्पादन क्षमता है।सभी तरह के उत्पादों को मिलाकर कंपनी ने 2019-20 के दौरान  लगातार पांचवी बार 57 लाख मिट्रिक टन की रिकार्ड बिक्री दर्ज की है। कठिन समय में संयंत्रों की अधिकत उत्पादन क्षमता बनाए रखना देश के कृषक समुदाय के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को पूरा करने की दिशा में एक बड़ी सफलता की कहानी है।


कोविड-19 से निबटने के सरकार के प्रयासों में पूरा योगदान देने के लिए एनएफएल के कर्मचारियों ने अपने एक दिन के वेतन के कुल 88 लाख रुपए पीएम केयर्स फंड में दान दिए हैं। इसके अतिरिक्त कंपनी ने कार्पोरेट सामाजिक दायित्व के तहत अपनी तरफ से भी 1.52 करोड़ रुपए पीएम केयर्स फंड में दिए हैं।