युवा ही देश व समाज को नई ऊंचाई पर ले जाते हैं : यूनाइट फाउण्डेशन

भविष्य की युवाशक्ति का निर्माण" विषय पर होगा यूनाइट मंथन


लखनऊ। किसी भी देश और समाज के विकास में युवाओं का महत्वपूर्ण योगदान रहा है, देश की युवा शक्ति समाज की रीढ़ है हमारे युवा ही समाज और देश को नई ऊंचाई के शिखर पर ले जाते हैं। युवा शक्ति देश के वर्तमान तो है ही साथ ही वे भविष्य के नायक भी हैं।


समाज के आलावा देश के प्रतीक हमारे युवा उच्च महत्वाकांक्षाओं और गहन ऊर्जा से परिपूर्ण होते है, युवाओ की आंखों में अपने और देश के उज्वल भविष्य के कई तरह के इंद्रधनुषी सपने होते हैं। किसी  देश को बेहतर बनाने के साथ साथ राष्ट्र के निर्माण में भी युवायो का ही अमूल्य योगदान होता है।


युवाओं के भविष्य को और कैसे बेहतर और सही दिशा निर्देश दिया जाए इन्हीं सब विषयों को लेकर विस्तृत संवाद और परिचर्चा के लिए यूनाइट फाउण्डेशन ने 23 नवम्बर 2019 को इस बार का विषय "भविष्य की युवाशक्ति का निर्माण" 'एक भारत- विजयी भारत' अभियान के अन्तर्गत रखा है। जिसके विषय विशेषज्ञ पूर्व आईएएस श्री दया नन्द लाल, विवेकानन्द केंद्र, कान्यकुमारी, प्रांत संचालक उ.प्र और डॉ. शीला मिश्रा, प्रोफेसर, सांख्यिकी विभाग, लखनऊ विश्वविद्यालय होंगी।


आप को बता दें कि यूनाइट फाउण्डेशन प्रत्येक माह के दूसरे और चौथे शनिवार को अपने कार्यालय बी-1/80, सेक्टर जी, जानकीपुरम, लखनऊ पर एक समाजिक मुद्दों से जुड़ें विषय पर एक संवाद कार्यक्रम का आयोजन करती है। जिसका नाम है यूनाइट मंथन, इस आयोजन का मुख्यउद्देश्य सामाजिक संस्थानों के वरिष्ठ पदाधिकारियों व संगठनों से जुडें लोगों को एक सांझा मंच पर लाना है। जहां से वे समाज को एक नयी दिशा दे सकें। इसी कड़ी में 23 नवम्बर 2019 को यूनाइट फाउण्डेशन ने अपने कार्यलय पर "भविष्य की युवाशक्ति का निर्माण" के विषय को लेकर एक बड़ी बैठक का आयोजन किया है।