संघ मुस्लिमों को लेकर अपना नजरिया बदले और जमीनी तौर काम करे जिससे कि मुस्लिमों में भरोसा जागे :- मौलाना अरशद मदनी

वर्तमान स्थिति मिल जुलकर काम  करने का है, बिना हिन्दू-मुस्लिम एकता के देश तरक्की नही कर सकता :- संघ प्रमुख मोहन भागवत 


 


नई दिल्ली:- जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने विगत दिनो दिल्ली स्थित संघ कार्यालय में संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की।


बैठक की चर्चा करते हुए मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि संघ मुस्लिमों को लेकर अपना नजरिया बदले और जमीनी स्तर पर मुस्लिमो के भरोसे को जीते। मदनी ने कहा कि  संघ प्रमुख मोहन भागवत व्यक्तिगत तौर पर अच्छे इंसान है और हिन्दू मुस्लिम एकता भाईचारे पर काम करना चाहते है. मदनी ने कहा कि हम सावरकर और गोलवलकर की विचारधारा के सख्त खिलाफ हैं जिसके जवाब में संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि इसको छोड़िये और वर्तमान परिस्थितियों  पर बात करते हैं अब हमें वर्तमान में हिन्दू-मुस्लिम एकता पर काम करना है और बिना इसके देश की तरक्की सम्भव नही हैं.


बैठक में ये तय किया गया कि भविष्य में संघ और जमीयत हिन्दू-मुस्लिम राष्ट्रीय एकता पर काम करेगी.


अंत मे मदनी ने कहा कि जिस तरह से जमीयत हिन्दू-मुस्लिम एकता पर काम करती हैं वैसे ही संघ को सार्वजनिक तौर पर काम करना चाहिए...



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सुपरटेक टावर के ध्वस्त होने के बाद बढ़ेंगी स्वास्थ्य चुनौतियां, रखें ये सावधानियॉ

गोविंद सदन दिल्ली के संस्थापक बाबा विरसा सिंह के आगमन दिवस पर गुरमत समागम का आयोजन

साई अपार्टमेंट सेक्टर 71 में लगाया गया टीकाकरण शिविर