सरकार दलित एवं ओबीसी,एवं गरीब सवर्णों के आरक्षण के पक्ष में

नई दिल्ली ।रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री मा. रामदास आठवले ने कहा कि केंद्र की एनडीए सरकार दलित एवं ओबीसी,एवं गरीब सवर्णों के आरक्षण के पक्ष में हैं और आरक्षण को कभी भी हटाया नहीं जा सकता है । उन्होंने कहा कि बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर द्वारा बनाया गये संविधान को देश के यशस्वी प्रधानमंत्री मा.नरेंद्र मोदी  जी धर्म ग्रंथ के रूप में मानते हैं और बाबा साहब के बताए रास्ते पर चलकर देश के देश को विकास की तरफ ले जा रहे ।उन्होंने कहा कि कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी राजनीतिक दल  इस मुद्दे को आम जनमानस के बीच में गलत ढंग से प्रस्तुत कर राजनीति करने का काम कर रहे है ।
 रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष मा.रामदास आठवले ने जारी प्रेस बयान में कहा कि वर्तमान समय में आरक्षण के समीक्षा करने की कोई जरूरत नहीं है और कई बार इस बात को देश के प्रधानमंत्री मा.नरेंद्र मोदी जी पहले भी कह चुके हैं ।उन्होंने कहा कि मेरे रहते हुए देश में आरक्षण को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंच सकता और केंद्र की एनडीए सरकार आरक्षण को लेकर पहले भी स्थिति स्पष्ट कर चुकी है कि एससी-एसटी और ओबीसी समाज को हमेशा की तरह आरक्षण मिलता रहेगा ।उन्होंने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री जी ने इसी भूमिका को आगे बढ़ाते हुए गरीब सवर्णों को भी आरक्षण देकर ऐतिहासिक काम किया है। श्री रामदास आठवले ने कहा कि पूर्व में भी विपक्षी पार्टियां इस तरह का दुष्प्रचार करती आई है कि आरक्षण हटने वाला है जबकि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर द्वारा बनाए गए संविधान को पूरी तरह से सम्मान देते हैं और पहले भी वह स्थिति स्पष्ट कर चुके है ।श्री आठवाले ने कहा कि देश में दलित पिछड़े यस.सी.यस .टी  और गरीब सवर्णों को आरक्षण को कोई भी हटा नहीं सकता है ।उन्होंने कहा कि इस बात पर बार-बार विवाद की स्थिति नहीं होना चाहिए इसलिए हमेशा से सरकार आरक्षण के पक्ष में खड़ी नजर आती है।