दुर्घटना में मारे गए मजदूरों के प्रति गहरी संवेदना

सी.पी.आई.(एम) की दिल्ली राज्य कमेटी फ्रेंड्स कॉलोनी औधोगिक क्षेत्र गली - 4 में भीषण आग की दर्दनाक दुर्घटना में मारे गए मजदूरों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करती है। देश की राजधानी दिल्ली में लगातार फैक्ट्रियों में आग लगने की घटनाएं हो रही हैं।  ताजा घटना  मामले में  शनिवार सुबह पूर्वी दिल्ली के झिलमिल इलाके में स्थित फ्रेंड्स कॉलोनी इंडस्ट्रियल एरिया की एक रबड़ फैक्टरी में भीषण आग की है। इस हादसे में तीन लोगों के मरने और कई के घायल होने की खबर है। कई लोगों के अब भी मौके पर फंसे होने की आशंका जताई जा रही है। मरने वालों में दो महिलाएं और एक पुरुष है। प्राप्त सूचना के अनुसार उस फैक्टरी में 200 से 250 मज़दूर काम करते हैं।


 


यह दुर्घटना दिल्ली के श्रम मंत्री तथा श्रम-विभाग के कारख़ाना निदेशक तथा पुलिस विभाग की घोर लापरवाही का नतीजा है दिल्ली में ऐसी तमाम आद्योगिक इकाईया काम कर रही है जिनमें न तो मजदूरो का कोई रिकॉर्ड रखा जाता है और न ही उनकी सुरक्षा की कोई व्यवस्था की जाती है। दिल्ली में कार्यरत यूनियनों ने इन मसलों पर बार-बार श्रम मंत्री, मुख्य मंत्री को दिए गए ज्ञापनों एवम धरना प्रदर्शनों के माध्यम से बार-बार उठाया गया, लेकिन दिल्ली की बहरी आम आदमी की सरकार तथा श्रम विभाग ने मजदूरों की मांगों के प्रति अपनी आंखे बंद कर रखी हैं।


 


सी.पी.आई.(एम) की दिल्ली राज्य कमेटी इस दुर्घटना में मारे गए मजदूरों के परिजनो को 20-20 लाख रुपये मुआवजा तथा श्रम-विभाग के कारख़ाना निदेशक और संबंधित फैक्टरी मालिकों के खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्यवाही की मांग करती है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सुपरटेक टावर के ध्वस्त होने के बाद बढ़ेंगी स्वास्थ्य चुनौतियां, रखें ये सावधानियॉ

गोविंद सदन दिल्ली के संस्थापक बाबा विरसा सिंह के आगमन दिवस पर गुरमत समागम का आयोजन

साई अपार्टमेंट सेक्टर 71 में लगाया गया टीकाकरण शिविर