चलो भारत मे रचाते हैं शादी , मंत्रालय ने शुरू किया विवाह पर्यटन अभियान



देश के मनोरम, ड्रीम वेडिंग डेस्टिनेशंस को आज़माने के लिए दुनिया भर के जोड़ों को किया गया आमंत्रित
एस एन वर्मा
नई दिल्ली।पर्यटन मंत्रालय ने भारत के विशाल विवाह उद्योग में संभावनाओं के द्वार खोलने के लिए विवाह पर्यटन अभियान शुरू किया है,जिसका उद्देश्य भारत को वैश्विक मंच पर एक प्रमुख विवाह स्थल के रूप में प्रदर्शित करना है।यह अभियान भारत में पर्यटन को नई ऊंचाइयों तक ले जाने जाने की अपार संभावनाओं के रास्ते खोलने की कोशिश है। यह अभियान दुनिया भर के जोड़ों को अपने विवाह का बेहद ख़ास दिन भारत की यादगार यात्रा पर आकर सेलिब्रेट करने के लिए प्रेरित करता है और ऐसा करके भारत के विवाह उद्योग को बढ़ावा देता है।
इस विशेष अभियान की शुरुआत करते हुए केंद्रीय संस्कृति, पर्यटन और उत्तर-पूर्वी क्षेत्र विकास मंत्री जी. किशन रेड्डी ने कहा कि आज एक उल्लेखनीय यात्रा का शुभारंभ हुआ है। यह भारत को विश्व में विवाह स्थलों के प्रतीक के रूप में स्थापित करने का एक मिशन है।
 इस अभियान का शुभारंभ करते हुए उन्होंने कहा कि दुनिया भर के जोड़ों को आमंत्रित करता हूं कि वे हमारे इस अतुल्य देश में आएं और अपने ड्रीम वेडिंग डेस्टिनेशन का अनुभव लें।
उन्होंने बताया कि यह अभियान देश भर में लगभग 25 प्रमुख स्थलों की प्रोफाइलिंग के साथ शुरू होता है, जिसमें यह पता लगाया जाता है कि कौन सा स्थल भारत में संबंधित जोड़ों की शादी की आकांक्षाओं में फिट बैठता है। मनमोहक जगहों से लेकर पवित्र परंपराओं तक, लज़्ज़तदार पाक व्यंजनों से लेकर अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे तक, यह अभियान भारत की भव्यता को दिखलाता है और इस अनुपम सुंदर देश को अपना वेडिंग डेस्टिनेशन चुनने के लिए आमंत्रित करता है। यह भारत की प्राचीन विरासत के साथ आधुनिक भव्यता के मेल को सेलिब्रेट करता है और एक ऐसा नैरेटिव बुनता है जो दुनिया को प्यार और सेलिब्रेशन की इस कभी न भूलने वाली यात्रा पर आने के लिए लुभाता है।

इस अभियान का मुख्य आकर्षण इसका सहयोगभरा अंदाज है। इसे उद्योग के विशेषज्ञों, संघों और अनुभवी वेडिंग प्लानरों के साथ नजदीकी परामर्श करके विकसित किया गया है। उनके बहुमूल्य फीडबैक ने एक व्यापक नैरेटिव रचा है जो वेडिंग टूरिज़्म डेस्टिनेशन के रूप में भारत का आकर्षण बताता है, विविध आकांक्षाओं को संबोधित करता है और इस अतुल्य देश के अनगिनत रंग-रूप दिखलाता है।
ईईएमए (इवेंट एंड एंटरटेनमेंट मैनेजमेंट एसोसिएशन) के अध्यक्ष  समित गर्ग कहते हैं कि  इस आइडिया को सच होते देखना वास्तव में अद्भुत है।यह अभियान भारत के अद्भुत स्थलों, प्राचीन रीति-रिवाजों, शानदार पाक-कला और विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचे की एक समृद्ध पारस्परिकता पर प्रकाश डालता है, जो कि संभावनाओं के एक मनोरम चित्र जैसा है।
मंत्रालय के अनुसार अतुल्य भारत के विवाह पर्यटन अभियान का उद्देश्य भारत में विवाह उद्योग और समग्र पर्यटन के विकास को बढ़ावा देते हुए अद्भुत वेडिंग एक्सपीरियंस चाहने वाले जोड़ों के लिए पहली पसंद के तौर पर भारत को स्थापित करना है। इस प्रयास के जरिए, भारत की परंपराओं तथा खजानों की समृद्ध झांकी में अतुल्य भारत, कुछ कालातीत यादें निर्मित करना चाहता है और प्यार की सुंदरता को सेलिब्रेट करना चाहता है।

’’’


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*"आज़ादी के दीवानों के तराने* ’ समूह नृत्य प्रतियोगिता में थिरकन डांस अकादमी ने जीता सर्वोत्तम पुरस्कार

ईश्वर के अनंत आनंद को तलाश रही है हमारी आत्मा

सेक्टर 122 हुआ राममय. दो दिनों से उत्सव का माहौल