नेपाली भाषा दिवस को मुख्यमंत्री तामांग ने राजकीय अवकाश घोषित किया

 नई दिल्ली


:
 31वें नेपाली भाषा दिवस  के शुभ अवसर परसिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तामांग ने दुनिया भर के सभी नेपाली भाषी लोगों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दीं।

 

20 अगस्त 1992 को भारत के संविधान ने भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में नेपाली भाषा को मान्यता दी थी। इसे सम्मानित करने के लिए और 'भाषा मान्यता दिवसको चिह्नित करने के लिए सिक्किम की वर्तमान सरकार ने इस साल से 20 अगस्त को राज्य में राजपत्रित अवकाश के रूप में घोषित कर दिया है। सिक्किम और दार्जिलिंग पहाड़ी क्षेत्रों में नेपाली भाषा लिंगुआ फ़्रैंका है।

 

मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तामांग ने अपनी मीडिया पोस्ट में कहा कि किसी भी जाति की परंपराप्रगतिसभ्यता और अस्तित्व सीधे उस जाति की भाषा और साहित्य पर निर्भर करता है। अगर हमारी भाषा हमारी अमूल्य धरोहर है, तो उसकी रक्षा करना और उसे समृद्ध करना हमारा परम कर्तव्य है। मैं अपने प्यारे भाइयों और बहनों को उनकी भाषा के उत्थान में शामिल विभिन्न साहित्यिक विधाओं में हमेशा सक्रिय रहने के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित करना चाहता हूं

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सुपरटेक टावर के ध्वस्त होने के बाद बढ़ेंगी स्वास्थ्य चुनौतियां, रखें ये सावधानियॉ

गोविंद सदन दिल्ली के संस्थापक बाबा विरसा सिंह के आगमन दिवस पर गुरमत समागम का आयोजन

साई अपार्टमेंट सेक्टर 71 में लगाया गया टीकाकरण शिविर