आजादी का अमृत महोत्सव में 'किसान भागीदारी, प्राथमिकता हमारी' अभियान आज से

 कृषि मंत्री श्री तोमर करेंगे फसल बीमा पाठशाला का शुभारंभ, केवीके में कृषि मेला व प्राकृतिक खेती पर प्रदर्शनी

नई दिल्ली: केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, विभिन्न मंत्रालयों के सहयोग से 'आजादी का अमृत महोत्सव' के तहत 25 से 30 अप्रैल  तक 'किसान भागीदारी, प्राथमिकता हमारी' अभियान का आयोजन कर रहा है। इस दौरान कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय किसानों के लिए क्षेत्रीय स्तर पर देशव्यापी कार्यक्रम आयोजित करेगा। कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग हरेक कृषि विज्ञान केंद्र में कृषि मेला व प्राकृतिक खेती पर प्रदर्शनी का आयोजन करेगा, जिसका शुभारंभ कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर करेंगे, वहीं श्री तोमर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत 'फसल बीमा पाठशाला' का शुभारंभ भी करेंगे। सप्ताह के दौरान विभिन्न मंत्रालयों के सहयोग से अनेक कार्यक्रम आयोजित होंगे।

ग्रामीण विकास मंत्रालय के साथ डीएवाई-एनआरएलएम के तहत कृषि पारिस्थितिक व पशुधन प्रथाओं पर व्याख्यान आयोजित किया जाएगा। वाणिज्य मंत्रालय और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्वारा एक जिला-एक उत्पाद (ओडीओपी) पर वेबिनार आयोजित किया जाएगा। 75 चयनित किसानों और उद्यमियों के साथ राष्ट्रीय आत्मनिर्भर भारत सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय तथा मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय विभागों की विभिन्न योजनाओं के बारे में एक जिला-एक उत्पाद आधारित कार्यशाला, वेबिनार और जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करेगा। इन मंत्रालयों के कैबिनेट तथा राज्य मंत्री सहित स्थानीय जनप्रतिनिधिगण एवं देशभर में ऑफलाइन व ऑनलाइन माध्यम से एक करोड़ से अधिक किसानों व हितधारकों के इस वृहद अभियान में भाग लेने की उम्मीद है।

अभियान के दौरान देश की स्वतंत्रता के 75 वर्षों में कृषि क्षेत्र के विकास के महत्वपूर्ण पहलुओं पर प्रकाश डाला जाएगा, ये हैं- •हरित क्रांति: खाद्यान्न उत्पादन में आत्मनिर्भरता; बागवानी फसलों का सबसे बड़ा उत्पादक- अदरक, केला, आम और पपीता; पीली क्रांति (ऑपरेशन गोल्डन फ्लो); मीठी क्रांति (शहद उत्पादन); फसलों की सिंचाई प्रणाली में सुधार; कृषि में रिमोट सेंसिंग/जीआईएस/ड्रोन एवं जैव-प्रौद्योगिकी का अनुप्रयोग; वाटरशेड विकास कार्यक्रम की सफलता; बीज व उर्वरक में आत्मनिर्भरता; कृषि यंत्रीकरण में प्रगति; मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन, नाशकजीवों का प्रभावी प्रबंधन (आईपीएम)। 

'किसान भागीदारी, प्राथमिकता हमारी' अभियान के दौरान केंद्र सरकार की विभिन्न प्रमुख योजनाओं के तहत गतिविधियां और उपलब्धियां बताई जाएगी। ये महत्वपूर्ण योजनाएं हैं- प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि; प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना; प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना-प्रति बूंद अधिक फसल; प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना; किसान क्रेडिट कार्ड; कृषि ऋण; ई-राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम); किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ); मृदा स्वास्थ्य कार्ड; जैविक और प्राकृतिक खेती; पौध संरक्षण व पौध संगरोध; मधुमक्खी पालन; फार्म मशीनीकरण; राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन; बीज और रोपण सामग्री; बागवानी के एकीकृत विकास पर मिशन; विस्तार सुधार (एटीएमए); आरकेवीवाई- रफ्तार- कृषि स्टार्ट-अप आदि।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

गोविंद सदन दिल्ली के संस्थापक बाबा विरसा सिंह के आगमन दिवस पर गुरमत समागम का आयोजन

बिन पानी सब सून