कांग्रेस सदस्यों के लिए शराबबंदी, खादी बुनने की शर्त हटाने की मांग

 लखनऊ 

 
पूर्व आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने कांग्रेस पार्टी के संविधान में सदस्यता से जुड़े कुछ शर्तों पर पुनर्विचार के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी को पत्र लिखा है. 
अपने पत्र में उन्होंने कहा कि राजनीति में शामिल होने तथा सही राजनैतिक दल खोजने के लिए उन्होंने अन्य राजनैतिक दलों के साथ इंडियन नेशनल कांग्रेस के संविधान को देखा, जिसके अनुच्छेद 5 में पार्टी के प्रत्येक सदस्य के लिए शर्त और घोषणा लिखा है. उन्होंने कहा कि वैसे तो कई अन्य शर्त भी कई पार्टी कार्यकर्त्ता पूरा करते नहीं दिखते किन्तु इनमे कुछ शर्त हैं जिनका पार्टी के अनेकानेक सदस्यों द्वारा निश्चित रूप से उल्लंघन किया जाता है. इसमें शराब नहीं पीने तथा खादी बुनने के शर्त शामिल हैं. 
अमिताभ ने कहा कि ये शर्त संभवतः महात्मा गाँधी के प्रभाव में लाये गए थे लेकिन बाद में खादी का जोर लगातार कम होता गया और आज बहुत सारे कांग्रेसी नेता खादी धारण नहीं करते हैं और कम ही कांग्रेसी स्वयं खादी बुनते हैं. इसी प्रकार तमाम कांग्रेस नेताओं द्वारा शराब का सेवन भी किया जाता है और कांग्रेस पार्टी की सरकार सहित तमाम राज्य सरकारें ही शराब बिकवा रही है. 
उन्होंने कहा कि मात्र कांग्रेस के संविधान में होने के कारण कई कांग्रेस नेताओं को यह झूठा घोषणापत्र देना पड़ता है, अतः उचित होगा कि इन शर्तों को बुनियादी रूप से ही संविधान से हटा दे ताकि किसी भी कांग्रेस नेता को अनावश्यक रूप से झूठा घोषणापत्र प्रस्तुत नहीं करना पड़े. 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव