घर से दूर-घर की तरह काम, साथ में सारी सुख सुविधा आराम

 


ईआरसीटीसी का " वर्क फ्रॉम होटल विद नेचर" (प्रकृति के साथ होटल में कार्य) यात्रा  पैकेज 

नई दिल्ली

कोविड - बाद (post -covid) की दुनिया में मेहमानों के बीच आईआरसीटीसी द्वारा फिर से विश्वास जगाने के प्रयासों को उचित सफलता मिल रही है ताकि वे आतिथ्य सेवाओं (हॉस्पिटैलिटी सर्विसेज) का लाभ उठाने के लिए घर से बाहर  यात्रा पर  निकलें। पुरी, कोणार्क और गोपालपुर (ओडिशा के समुद्र तट गंतव्य - beach destinations) के लिए "वर्क फ्रॉम होटल विद नेचर" पैकेज लॉन्च किए जा रहे हैं। टिकट की बुकिंग 09.06.2021 से शुरू हो गयी है।

चूंकि रिमोट वर्किंग नया मानदंड बन गया है, और स्थान  की स्वतंत्रता  तेजी से एक व्यवहार्य विकल्प  के रूप  में उभरी है, तो इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि अब अधिक से अधिक लोग अपने घर व कार्यालय की चार दीवारों से परे प्रेरणा, नएपन  की तलाश कर रहे हैं। समय के साथ, स्वास्थ्य और सुरक्षा चिंताओं के कारण अधिक एकांत और निजी वातावरण की मांग में वृद्धि हुई है।

इस उभरती प्रवृत्ति को ध्यान में रखते हुए, इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IRCTC) ने उन प्रोफेशनलों ( पेशेवरों) के लिए विशेष यात्रा पैकेज लॉन्च किए हैं जो समुद्र तट, जंगल के पास एक अलग लेकिन प्राकृतिक वातावरण में अपने होटल के आरामदेह कमरे से अपना काम जारी रखना चाहते हैं तथा अपनी रोजमर्रा दिनचर्या के साथ आराम फरमाना और आनंद उठाना चाहते हैं । इस महामारी के समय में ठेठ कार्यालय सेटिंग से दूर कहीं दूसरे स्थान से  काम करना अब  एक नया चलन बनने की उम्मीद है।

प्रोफेशनल  पुरी, कोणार्क और गोपालपुर के समुद्रतटीय गंतव्य (बीच डेस्टिनेशंस ) चुन सकते हैं। पैकेज की अवधि न्यूनतम 03 रातों के लिए होगी जिसे यथानुपात (प्रोरेट ) आधार पर बढ़ाया जा सकता है। अन्य स्थलों  के लिए भी इसी तरह के पैकेज तलाशे जा रहे हैं।

यह पैकेज इस प्रकार है

क्रमांक

गंतव्य

ठहरने की अवधि  

यात्रा बजट

1.

पुरी

   3 रातें/4 दिन               

₹ 6165

 2.

कोणार्क  

 ₹ 12600

3.

गोपालपुर

₹ 19945

सभी यात्रा पैकेजों में कीटाणुरहित (डिसिंफेक्टेड) कमरे, सभी यात्रियों के लिए तीन बार भोजन, दो बार चाय/कॉफी, निशुल्क वाई-फाई, वाहन के लिए सुरक्षित पार्किंग स्थल, यात्रा बीमा शामिल हैं। कड़े कोविड-सुरक्षा प्रोटोकॉल और उच्च स्तर की स्वच्छता बनाए रखी जाती है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन