ऑक्सीजन सुविधा के उपयोग से लैस 2500 अतिरिक्त बेड स्थापित करेगा सेल

नयी दिल्ली :प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान और पेट्रोलियम व् प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री  धर्मेंद्र प्रधान के मार्गदर्शन मेंस्टील अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (सेलकोविड उपचार के लिए गैसियस ऑक्सीजन (जी ओ एक्स ) की सुविधा से लैस 2500  बिस्तरों वाली व्यापक चिकित्सा सुविधा स्थापित करने की योजना बना रहा है।  यह सुविधा सेल के पांच एकीकृत स्टील प्लांटों - भिलाई (छत्तीसगढ़), राउरकेला (ओडिशा), बोकारो (झारखण्ड), दुर्गापुर तथा बर्नपुर (पश्चिम बंगाल) में उपलब्ध वर्तमान सुविधा के अतिरिक्त होगी।   

इन व्यापक सुविधाओं को सेल अस्पतालों की मौजूदा सुविधाओं के बाहर बनाने की योजना है। साथ ही इन नयी सुविधाओं में तरल चिकित्सकीय ऑक्सीजन से गैसियस ऑक्सीजन निकालने के बजाय, जैसा कि अभी सेल के अस्पतालों में हो रहा है, ऑक्सीजन इस्तेमाल के लिए स्टील प्लांटों से सीधे एक समर्पित गैस लाइन ऑक्सीजन सप्पोर्ट के लिए होगी   भारत सरकार के सुझाव परसेल ऑक्सीजन  के अतिरिक्त स्रोत के रूप में सीधे गैसियस ऑक्सीजन का इस्तेमाल करेगा क्योंकि वर्तमान में तरल चिकित्सा ऑक्सीजन की मांग बहुत अधिक है। 

इन 2500 बिस्तरों को  चरणबद्ध तरीके से सम्बंधित राज्य सरकारों के साथ मिलकर विकसित किया जायेगा।   पहले चरण में कंपनी लगभा 700 बिस्तरों की सुविधा कायम करेगी जिनको सभी पांचो जगहों कुल 2500 तक बढ़ाया जायेगा।  

वर्तमान में सेल के पांच अस्पतालों में लगभग 3000 बिस्तर हैं और लगभग 45 % बिस्तर कोविड रोगियों के लिए रखे गए हैं। 

इस महामारी के खिलाफ लड़ने के लिए कंपनी हर तरीके से राष्ट्र के साथ प्रतिबद्ध है।   

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन