*रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया ने महिला आरक्षण के समर्थन में बुलंद की आवाज*

 *महिलाओं को लोकसभा और विधानसभाओं में मिले 33 फीसदी आरक्षणः आठवले*

नई दिल्ली। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया(आरपीआई) ने लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभाओं में महिलाओं को एक तिहाई यानी 33 फीसदी आरक्षण देने की मांग का समर्थन किया है।

 पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री रामदास आठवले ने इस संबंध में एक बयान जारी किया है। उन्होंने कहा है कि महिलाओं को बराबरी का मौका मिलना चाहिए। इस नाते उन्हें 33 प्रतिशत आरक्षण दिया जाना जरूरी है। केंद्रीय मंत्री ने यह मांग अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर सोमवार को उठाई है।

केंद्रीय मंत्री श्री आठवले ने कहा है कि रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया(आरपीआई) महिलाओं को लोकसभा, राज्यसभा और सभी विधानसभाओं में एक तिहाई यानी 33 फीसदी आरक्षण की मांग का समर्थन करती है। संविधान निर्माता बाबा भीम राव आंबेडकर साहब ने महिलाओं के कल्याण के लिए बहुत कार्य किए। 

उन्होंने कहा कि बाबा साहब डॉ. अंबेडकर महिला कोड बिल भी लेकर आए। लेकिन महिला कोड बिल नामंजूर होने पर उन्होंने इस्तीफा दे दिया था। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया(आरपीआई) की भी ऐसी मांग है कि महिलाओ को राजनीतिक भागीदारी बढ़ाने के लिए, लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा में आरक्षण दिया जाए। महिलाओं को बराबरी का हिस्सा होना चाहिए।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन