इस साल देश में अब तक सबसे अधिक सरसों उत्पादन होने की उम्मीद

 2020-21 के मौजूदा रबी सीज़न में देश में 89.5 लाख टन सरसों के बीच उत्पन्न होंगेः सीओओआईटी (COOIT)

नई दिल्ली : सीओओआईटी (COOIT -सेंट्रल ऑर्गेनाइज़ेशन फॉर ऑयल इंडस्ट्री एण्ड ट्रेड) के अनुमान के मुताबिक 2020-21 के मौजूदा रबी सीज़न में 89.5 लाख टन सरसों के बीजों का उत्पादन होगा, जबकि पिछले साल 75 लाख टन बीजों का उत्पादन हुआ था।  

सीओओआईटी (COOIT) ने रविवार को एक सालाना कार्यक्रम-तेलबीजों पर 41वें रबी सेमिनार- के दौरान सरसों एवं अन्य तेलबीजों के उत्पादन के लिए अपने पूर्वानुमान की घोषणा की। सेमिनार का आयोजन दिल्ली में तेल कारोबार एवं उद्योग संगठन के द्वारा किया गया था। देश भर से प्रतिभागियों एवं शोधकर्ताओं ने सेमिनार में हिस्सा लिया तथा तेलबीजों के उत्पादन पर अपने प्रेक्षण तथा अनुमानों पर चर्चा की।

इस साल के उत्पादन के अनुमानों पर बात करते हुए, सीओओआईटी (COOIT) के चेयरमैन श्री बाबूलाल डाटा ने कहा, ‘‘मौजूदा रबी सीज़न में किसानों का रूझान सरसों की ओर बढ़ा है, जिसके चलते सरसों की ज़्यादा बुवाई की गई है। मौसम भी अनुकूल है, प्रति हेक्टेयर उत्पादन भी बढ़ने की उम्मीद हैं। तदनुसार, इस साल सरसों का रिकॉर्ड उत्पादन होने का अनुमान है, जिससे किसानों, उपभोक्ताओं एवं खाद्य तेल उद्योग से जुड़े सभी हितधारकों को लाभ होगा।’ 

राजस्थान, गुजरात में सरसों के बीजों का उत्पादन 

सीओओआईटी (COOIT) के अनुमान के मुताबिक राजस्थान में 2020-21 में सरसो के बीजों का उत्पादन 35 लाख टन तथा तारामीरा का उत्पादन 2 लाख टन होगा, जबकि पिछले साल यह उत्पादन क्रमशः 32 लाख टन और 6 लाख टन (पिछले साल यानि 2018-19 से अग्रेषित सहित) था, जो पिछले रबी सीज़न में देश में सरसों का सबसे बड़ा उत्पादक था। 

इसी तरह गुजरात में सरसों के बीजों का उत्पादन 4 लाख टन रहने की उम्मीद है जबकि पिछले साल यह 3 लाख टन था।  

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल में सरसों के बीजों का उत्पादन 

2020-21 में मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में सरसों के बीजों का उत्पादन कुल 10 लाख टन रहने की उम्मीद है जबकि पिछले साल यह दोनों राज्यों में कुल 6.5 लाख टन था। 

सीओओआईटी (COOIT) के अनुमान के मुताबिक पश्चिम बंगाल में इस रबी सीज़न सरसों के बीजों का उत्पादन 5 लाख टन रहने की उम्मीद है जबकि पिछले साल यह 4.5लाख टन था।

पंजाब, हरियाणा में सरसों के बीज का उत्पादन

सरसों के बीजों का उत्पादन 10.5 लाख टन रहने की उम्मीद है जबकि पिछले साल यह 10 लाख टन था।

यूपी, बिहार और पूर्वी राज्यों में सरसों के बीज का उत्पादन

उत्तरप्रदेश में तथा बिहार सहित पूर्वी राज्यों भी सरसों के बीज का उत्पादन बढ़ने की उम्मीद है। 

सीओओआईटी (COOIT) के अनुमान के मुताबिक सरसों के बीजों का उत्पादन इस रबी सीज़न उत्तरप्रदेश में 15 लाख टन, बिहार और अन्य पूर्वी राज्यों में 10 लाख टन और अन्य पूर्वी राज्यों होने की उम्मीद है जो पिछले साल क्रमशः 13 लाख टन और 7 लाख टन था।  

1958 में स्थापित सीओओआईटी (COOIT) के वनस्पति तेल क्षेत्र के विकास में सक्रिय है जो अर्थव्यवस्था का महत्वपूर्ण क्षेत्र है। 

  सीओओआईटी (COOIT) राष्ट्रीय स्तर की सर्वोच्च संस्था है जो देश में सम्पूर्ण वनस्पति तेल क्षेत्र और इसके सदस्यों के हितों का प्रतिनिधित्व करती है, जिनमें राज्य स्तरीय संगठन, प्रमुख निर्माता/ उद्योग जगत के कारोबार, कारोबार एवं निर्यात सदन आदि शामिल हैं।