*जातीय आधार पर होनी चाहिए 2021 की जनगणना: रामदास आठवले*


केंद्रीय मंत्री ने राज्यसभा में कहा- किसानों को खत्म करना चाहिए आंदोलन 

नई दिल्ली । रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया( आठवले) के राष्टीय अध्यक्ष और केंद्र सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य   रामदास आठवले ने राष्ट्रपति के अभिभाषण को देश को मज़बूत करने वाला बताया है। उन्होंने शुक्रवार को राज्यसभा में कहा कि बाबा साहब अंबेडकर ने जिस पार्टी की स्थापना की थी, मैं उस पार्टी से आता हूँ। राष्ट्रपति का अभिभाषण युवा, महिला, गरीबों और पिछड़ों को दिशा दिखाने वाला अभिभाषण है। 

 श्री आठवले ने राज्यसभा मे कहा कि मैने माँग किया है कि 2021 की जनगणना जातीय आधार पर होनी चाहिए। ताकि हर जाति का परसेंटेज पता चल सके। महाराष्ट्र में मराठा, हरियाणा में जाट, राजस्थान में राजपूत समाज, यूपी में ठाकुर समाज आरक्षण माँग रहा है। मेरा मानना है कि अलग से क्षत्रिय समाज को आरक्षण देना चाहिए, जिस प्रकार से आर्थिक आधार पर दस प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था हुई है।  प्रमोशन में रिज़र्वेशन देने पर भी विचार होना चाहिए। 

मंत्री ने कहा कि जो नरेंद्र मोदी  किसानों के कारण दो बार बहुमत से जीते है, वो किसानों के खिलाफ क्यों काम करेंगे? कानून पर सभी को पॉज़िटिव होना चाहिए। 

श्री आठवले ने कहा कि आंदोलन करने वाले किसानों का सम्मान है। लेकिन इतने दिनों तक आंदोलन करना ठीक नहीं है। किसान नेताओं को आंदोलन खत्म कर बातचीत से समाधान को तत्पर होना चाहिए।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव