रेलटेल स्वच्छता प्रबंधन परियोजना के लिए सीएसआर टाइम्स अवार्ड से सम्मानित

 

रेलटेल को मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन परियोजना के लिए सीएसआर

टाइम्स अवार्ड से सम्मानित किया गया

नई दिल्ली 




रेलटेल द्वारा चलाए जा रहे मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन (एमएचएम) कार्यक्रम के लिए सीएसआर टाइम्स अवार्ड (पीएसयू सेक्टर में स्वर्ण श्रेणी) से सम्मानित किया गया है। रेलटेल, एक एनजीओ के सहयोग से, उत्तर प्रदेश के 8 एस्पिरेशनल जिलों के 180 सरकारी उच्चतर प्राथमिक स्कूलों में यह कार्यक्रम चला रही है।

भारत में, सामाजिक वर्जनाओं, कम जागरूकता और अपर्याप्त शिक्षा और धार्मिक मान्यताओं के कारण, मासिक धर्म की स्वच्छता की अक्सर उपेक्षा की जाती है, जिसके परिणामस्वरूप किशोरियां के रोग से ग्रसित होने के कारण उनके सामान्य दैनिक कामकाज प्रभावित होती हैं। मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन ( एमएचएम) परियोजना का उद्देश्य शिक्षकों और किशोर बालिकाओं को शिक्षित करने के साथ उन्हें सैनिटरी पैड उपलब्ध कराना और तदोपारान्त उसका इन्सिरेटर के माध्यम से निपटान करना है।  इस कार्यक्रम से सरकारी स्कूलों और आस-पास के समुदाय से आने वाले समाज के वंचित समूहों के आमतौर पर लगभग 30 हज़ार प्रत्यक्ष और 1 लाख अप्रत्यक्ष लाभार्थी इससे लाभान्वित और प्रभावित होंगे।  लड़कियां आगे अपनी मित्रों और परिवारों को दूरगामी प्रभाव के लिए शिक्षित करेंगी।

रेलटेल डिजिटल साक्षरता, शिक्षा, स्वास्थ्य और शारीरिक रूप से अक्षम बच्चों के लाभ के लिए सीएसआर के   अंतर्गत सक्रिय रूप से कार्यक्रमों का समर्थन कर रही है।   रेलटेल वर्तमान में तीन डिजिटल साक्षरता केंद्र और महिलाओं के लिए एक कौशल विकास केंद्र और रेलटेल- आकांशा सुपर 30 केंद्र, देहरादून मे चला रही है। 

रेलटेल आकांशा सुपर में 30 केंद्र उत्तराखंड के अलग-अलग कोनों से अल्पसुविधाप्राप्त लेकिन प्रतिभाशाली छात्रों को राष्ट्रीय और राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश के लिए 11 महीने तक मुफ्त आवासीय कोचिंग और परामर्श दिया जाता है।