जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन, याद दिलाया सरकार का किया वादा

 दिवंगत पत्रकार विक्रम जोशी की पत्नी ने  सरकारी नौकरी की मांग को लेकर...

 गाजियाबाद। दिवंगत पत्रकार विक्रम जोशी की पत्नी ने सरकारी नौकरी नहीं दिये जाने के विरोध में पत्रकारों की मौजूदगी में जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया।

 ज्ञापन में कहा गया है कि मेरे पति पेशे से पत्रकार थे और दैनिक जनसागर टुडे समाचार पत्र में संवाददाता के पद पर कार्य कर रहे थे। दिनांक 21 जुलाई 2020 की रात को बेख़ौफ़ बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी थी। जिससे 23 जुलाई को यशोदा अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई थी। अस्पताल में ही  जिलाधिकारी गाजियाबाद द्वारा समस्त प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के समक्ष  मुख्यमंत्री की ओर से परिजनों को आर्थिक सहायता दिलाने, बच्चों शिक्षा दिलाने और मुझे योग्यता के आधार पर सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया था।  आर्थिक सहायता व बच्चों को शिक्षा के लिए स्कूल में प्रवेश वाली दो मांग तो पूरी हो गई है। लेकिन मुझे अभी तक सरकारी नौकरी नहीं मिली है।जो कि सबसे अहम पहली मांग थी। मेरे परिवार के भरण-पोषण के लिए आय का कोई साधन नहीं है।मै और मेरे तीन छोटे छोटे बच्चे भी हैं। जिनका  भरण-पोषण करना बहुत मुश्किल हो रहा है। और अब स्वयं आप अपने वादे से मुकर रहे हैं।जब मैंने आपसे मुलाकात कर सरकारी नौकरी दिलाने की गुहार लगाई तो आपने कहा कि सरकारी नौकरी देने की बात नहीं कही थी। यदि चाहो तो प्राइवेट नौकरी दिलाई जा सकती है।आपकी बातों से प्रतीत होता है कि आपके द्वारा उस समय मेरे परिवार को जो भरोसा दिलाया था वो सब झूठ था।इससे में बहुत आहत हूँ। 

ज्ञापन में दिवंगत पत्रकार की पत्नी  कविता जोशी ने कहा है कि आपसे प्रार्थना है कि आपने जो मुख्यमंत्री  की ओर से मुझे आश्वासन दिया था उसे पूरा करने की कृपा करें और मुझे एक सप्ताह के भीतर सरकारी नौकरी का नियुक्त पत्र दिलाने की कृपा करें। यदि मुझे नियुक्त पत्र नहीं दिया गया , तो मैं अपने मासूम बच्चो के साथ आपके कार्यालय पर धरना शुरू करने के लिए मजबूर हो जाऊंगी।अगर इसके बाद भी मुझे न्याय नहीं मिलता है तो मैं लखनऊ जाकर मुख्यमंत्री आवास के बाहर भी धरना देकर आपका दिया हुआ वादा याद दिलाऊंगी और यदि आप लोग अपने वादे से मुकरे तो में इससे आगे भी कोई कदम उठाने पीछे नहीं हटूंगी।इसकी समस्त जिम्मेदारी आपकी होगी। 

ज्ञापन देने के अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार अशौक ओझा, लोकेश राय, अनुज चौधरी, अशोक कौशिक, तोसिक कर्दम, ठाकुर पंकज सिंह, एसपी चौहान, सत्येंद्र राघव, सुनील यादव, अजय रावत, मुकेश कर्दम, नरेश सिंघानिया, हरि सिंह, सुनील पवार ,संजय मित्तल, प्रवीण अरोड़ा, अली मेहंदी, तेजस चौहान, पंकज राय, ठाकुर चंदन सिंह, नदीम चौधरी, मनोज कुमार, सुरेंद्र भाटी, मुकेश गुप्ता, विकास, जावेद एवं पप्पू नेहरा समेत कई पत्रकार मौजूद थे।