प्राधिकरण ने शहर में कूड़ा फैलाने वाले 5 संस्थानों पर लगाया जुर्माना

 

पलीथीन का इस्तेमाल करने वाले पांच दुकानदारों पर भी अर्थदंड 

नोएडा। नोएडा प्राधिकरण ने प्रदूषण को रोकने के लिए ग्रेप के प्रावधानों के तहत वर्क सर्किल एक से 10 तक के सभी मुख्य मार्गों पर 47 टैंकरों से 81.130 किलोमीटर लम्बाई में सड़कों पर पानी का छिड़काव किया। दूसरी ओर, जन स्वास्थ्य विभाग ने कूड़ा फैलाने वाले पांच संस्थनों पर एक लाख 500 रुपये का जुर्माना लगाया। इसके अलावा पालीथीन का उपयोग करने पर 05 दुकानदारों पर भी 35 सौ रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

नोएडा प्राधिकरण के जन स्वास्थ विभाग के वरिष्ठ परियोजना अभियंता एससी मिश्रा ने बताया कि वायु प्रदूषण और ग्रेप के प्रावधानों का सख्ती से पालन कराने को लेकर प्राधिकरण पूरी तरह गंभीर है। ग्रेप का पालन कराने के लिए विभाग की टीम ने उल्लंघन करने वालों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई कर रही है। जन स्वास्थ विभाग द्वारा नोएडा में विभिन्न स्थानों से कुल 355.68 टन सी एण्ड डी मलवे का उठान किया गया। इसे निस्तारण के लिए सेक्टर-80 स्थित सी एण्ड डी प्रोसेसिंग प्लांट पर पहुंचाया गया और 175.5 टन सी एण्ड डी मलवे का निस्तारण किया गया। 

एससी मिश्रा ने बताया कि जन स्वास्थ्य विभाग द्वारा कुल 67 मार्गों पर लगभग 243 किलोमीटर लम्बाई में सड़कों की सफाई कराई गई। इसके अतिरिक्त लगभग 501 किलोमीटर लम्बाई की सड़कों व फुटपाथ की रात्रि में धुलाई की गई। सड़कों पर छिड़काव एवं उनकी धुलाई के लिए एसटीपी के शोधित जल का उपयोग किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि नोएडा प्राधिकरण की सीईओ का सख्त निर्देश है कि वायु प्रदूषण तथा ग्रेप के नियमों का उल्लंधन करने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन