वेगस माॅल में भारत में सबसे बड़ा इंडोर इन्सटाॅलेशन , बनारस के घाट पर हुआ देव दिपावली का आयोजन

श्रद्धेय अजय भाई जी के आध्यात्मिक और प्रेरक संगीत से आगंतुक हुए मंत्रमुग्ध


मंदिर संरचना, स्तंभों पर खूबसूरत नक्काशी, टिमटिमाते दीए और घंटियों की आवाज़ बनारस के घाट के इन्सटाॅलेशन को आकर्षक बनाया


नई दिल्ली : भारत त्योहारों और उत्सवों का देश है, त्योंहारों के अवसर पर यहां लोग जी भरकर खरीददारी और मस्ती करते हैं। किंतु इस साल कोविड-19 के चलते लोगों ने घर में रह कर ही त्योहारों के जश्न मनाए, जोकि भारतीय लोगों की सोच के बिल्कुल विपरीत है। इस चुनौतीपूर्ण समय में आगंतुकों के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए वेगस माॅल ने उनके साथ ‘देव दीपावली’ मनाने का फैसला लिया, ताकि इस मुश्किल समय कें बीच भी वे खुशनुमा अहसास पा सकें और त्योहारों के इन पलों को यादगार बना सकें।


कार्यक्रम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के सभी नियमों का पालन किया गया। आगंतुंकों को ऐसा अनुभव प्रदान करने के लिए जेसे वे गंगा के घाट पर ही हैं, वेगस माॅल में सबसे बड़े इंडोर इन्सटाॅलेशन का आयोेजन किया गया। मंदिर की संरचना से युक्त इस इन्सटाॅलेशन को स्तंभों पर खूबसूरत नक्काशी से सजाया गया। एक कृत्रिम जल निकाय बनाया गया, जिनमें दीए तैर रहे थे। श्रद्धेेय अजय भाई जी के प्रेरक और आध्यात्मिक संगीत से आगंतुक मंत्रमुग्ध हो गए।


देव दीपावली, जिसका शाब्दिक अर्थ है ‘देवों की दीवाली’ या ‘देवों का रोशनी का त्योहार’ बनारस में एक विशाल पर्व है। माना जाता है कि इस अवसर पर देवता धरती पर उतरकर गंगा में स्नान करते हैं। देवताओं का स्वागत करने के लिए बनारस में नदी के घाटों को दीयों से सजाया जाता है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन