कोरोना : प्लाजमा थेरेपी से 89 फीसदी मरीजों को मिला नया जीवन

- प्लाज्मा थेरेपी से 335 में 298 मरीज स्वस्थ हुए : डॉ. राकेश गुप्ता


ग्रेटर नोएडा। गवर्नमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (जिम्स) के निदेशक ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्ति) डॉ. राकेश गुप्ता ने दावा किया कि जिम्स अस्पताल में भर्ती 335 मरीजों का प्लाजमा थेरेपी से उपचार किया गया, जिसमें से 298 मरीज ठीक हो गए। उन्होंने बताया कि ठीक हुए मरीजों का प्रतिशत 89 है। डॉ. राकेश गुप्ता ने बताया कि जिन मरीजों का प्लाजमा थेरेपी से उपचार किया गया, उनमें 277 पुरुष और 58 महिलाएं शामिल थीं। इनमें से 247 पुरुष और 51 महिलाएं स्वस्थ हो गईं।


उन्होंने बताया कि कुल 37 मरीज प्लाजमा थेरेपी के बाद जिम्स अस्पताल में जीवित नहीं रहे। उनमें 30 पुरुष व 7 महिलाएं शामल थीं। डॉक्टर गुप्ता ने कोविड-19 के संक्रमण से ठीक हुए लोगों से अपील की है कि वे प्लाज्मा दान करें, ताकि कोरोना वायरस से संक्रमित रोगियों के जीवन की रक्षा की जा सके। डॉ. राकेश गुप्ता ने बताया कि 18 से 65 वर्ष की आयु के लोग प्लाज्मा दान कर सकते हैं। जिम्स अस्पताल में अब तक 264 लोगों ने प्लाज्मा दान किया है, जिसमें से 335 मरीजों का प्लाज्मा थेरेपी से उपचार किया गया है।


उन्होंने बताया कि गौतमबुद्ध नगर में अब तक कोविड-19 से 80 लोगों की मौत हो चुकी है।