एलईडी बल्ब से रोशन होंगी ग्रेटर नोएडा की सड़कें : नरेंद्र भूषण

स्ट्रीट लाइट में एलईडी बल्बों के इस्तेमाल से प्राधिकनरण को होगी 15 करोड़ की सालाना बचत


ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण ने क्षेत्र में कार्यरत इकाइयों/ उद्यमियों और औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जतरिये संवाद कर समस्याएं सुनीं और उनके निराकरण का भरोसा दिया। सीईओ नरेंद्र भूषण ने कहा कि प्राधिकरण उद्यमियों की समस्याओं के समाधान के लिए निरंतर कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि भविष्य की मांग एवं आवश्यकता के मद्देनजर आधारभूत सुविधाएं जैसे बिजली, पानी, सड़क, सीवर, हरियाली आदि को और बेहतर एवं पेशेवर तरीके से विकसित किया जा रहा है।


उन्होंने कहा कि प्राधिकरण कार्यालय में सप्ताह के प्रत्येक गुरुवार को जल अदालत आयोजित की जाती है, जिसमें रोस्टर और पानी से संबंधित बिलों का समाधान किया जाता है। उन्होंने कहा कि 9 दिसंबर को नोएडा प्राधिकरण कार्यालय में सुबह 10 से दोपहर एक बजे तक कैंप लगाकर ईकोटेक-2, ईकोटेक-3 के आवंटियों को कंप्लीशन दिए जाएंगे। संबंधित आवंटी अपनी इकाई की कंप्लीशन के लिए निर्धारित प्रपत्र दस्तावेज, बैंक चलान तथा आवश्यक निर्धारित औपचारिकताओं के साथ उपस्थित होकर कंप्लीशन ले सकते हैं। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान एक उद्यमी के सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि वर्ष-2021 में प्राधिकरण द्वारा 69 हजार स्ट्रीट लाइट में एलईडी बल्ब लगा दिया जाएगा। यह काम जनवरी 2021 से शुरू किया जाएगा। इससे प्राधिकरण के खर्च में लगभग 15 करोड़ सालाना की बचत होगी। औद्योगिक क्षेत्रों में शौचालय, पब्लिक टॉयलेट सुविधा के संबंध उन्होंने बताया कि 30 पब्लिक टॉयलेट के लिए निविदा जारी की जा चुकी है। उसमें नौ पिंक पायलट होंगे। नए औद्योगिक सेक्टरों में दिशा सूचक बोर्ड लगाने के लिए संबंधित विभाग को निर्देशित किया गया है। औद्योगिक क्षेत्रों के कूड़े का निस्तारण के लिए कुछ स्थानों को चिन्हित किया गया है।


उन्होंने बताया कि आगामी वर्ष में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के अंतर्गत कूड़ा निस्तारण, डोर टू डोर गारबेज कलेक्शन, सूखा व गीला कूड़ा, बल्क वेस्ट जनरेटरों पर नियमानुसार निर्धारित शुल्क के साथ यह सुविधा नये वर्ष से शुरू होगी। सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि प्राधिकरण ने उद्यमियों तथा भविष्य की बिजली की मांग को देखते हुए ग्रेटर नोएडा क्षेत्र की अतिरिक्त विद्युत मांग की आपूर्ति के लिए नोएडा पावर कंपनी द्वारा 400 केवी विद्युत उपकेंद्र नोएडा सेक्टर-123 से लिये जाने तथा ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में यूपीपीटीसीएल द्वारा 400/220/132/33 केवी के दो सब-स्टेशन, जलपुरा एवं अमरपुर ग्रामों में स्थापित कराये जाने की प्रक्रिया में है। इसके अतिरिक्त ग्रेटर नोएडा पश्चिम क्षेत्र की विद्युत मांग को देखते हुए 220/33 केवी विद्युत उपकेन्द्र स्थापित किये जाने का प्रस्ताव नोएडा पावर कम्पनी द्वारा दिया गया है। इस दौरान अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी दीपचन्द, विशेष कार्याधिकारी शिव प्रताप शुक्ला, महाप्रबन्धक वित एचपी वर्मा, महाप्रबन्धक परियोजना पीके कौशिक, महाप्रबन्धक नियोजन मीना भार्गव, एसपी शर्मा, अध्यक्ष ग्रेटर नोएडा एन्टरप्रिन्योर एसोसिएशन रणवीर सिंह, मंजुला मिश्रा, आदित्य, रवि बंसल, अशोक गर्ग, जनक भाटिया, दीपक अग्रवाल आदि मौजूद रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन