धोखाधड़ी के आरोपी बिल्डर कंपनी के दो निदेशक गिरफ्तार - पैसे मांगने पर देते थे हत्या कराने की धमकी

नोएडा। मोटा मुनाफा देने का लालच देकर चार लोगों से करोड़ों रुपये निवेश कराकर धोखाधड़ी करने वाले दो बिल्डर कंपनी के दो निदेशकों को ईकोटेक-3 थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनका एक साथी अभी फरार है। अपर पुलिस उपायुक्त (जोन द्वितीय) अंकुर अग्रवाल ने बताया कि ईकोटेक-3 थाने की पुलिस ने सूचना के आधार पर बुलंद रियल्टर नामक बिल्डर कंपनी के दो निदेशक रजनीश नागर तथा सुनील नागर को गिरफ्तार किया है।


उन्होंने बताया कि एक अन्य आरोपी अनिल मिठास फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। उन्होंने बताया कि इनके खिलाफ विक्रम कथुरिया सहित कई लोगों ने थाना ईकोटेक-3 में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आरोप है कि इन लोगों ने उनसे तथा उनके कई सहयोगियों से बुलंद रीयल्टर कंपनी में करोड़ों रुपये का निवेश कराया। इन लोगों ने वादा किया था कि वे प्रति वर्ष 18 प्रतिशत के हिसाब से रिटर्न देंगे और कंपनी में उन्हें शेयर भी देंगे। आरोप है कि रजनीश नागर, सुनील नागर तथा अनिल मिठास ने धोखाधड़ी करके इनके पैसे नहीं दिए। पीड़ितों का आरोप है कि जब वे लोग उनसे पैसे मांगते हैं, तो ये कुख्यात गैंगस्टर सुंदर भाटी तथा अनिल दुजाना को अपना रिश्तेदार बताकर उनकी हत्या करने की धमकी देते हैं।


उन्होंने बताया कि पुलिस ने दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। इस मामले में वांछित एक अन्य आरोपी अनिल मिठास उन्नति ग्रुप का भी निदेशक है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।