रसायन उद्योग के क्षेत्र में विकास की प्रचुर संभावनाएं हैं - श्री गौड़ा

नई दिल्ली 


केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री  डी.वी.सदानंद गौड़ा ने कहा है कि ऐसे समय में जबकि सरकार घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देकर आत्मनिर्भर बनने की दिशा में काम कर रही है भारत में निवेश करने का यह सबसे अच्छा समय है।


श्री गौड़ा आज यहां रसायन और पेट्रो रसायन विभाग तथा उद्योग संगठन फिक्की द्वारा "स्पेशियलिटी कैमिकल्स " पर आयोजित एक वेबिनार को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने 17 से 19 मार्च 2021 तक आयोजित होने वाले “इंडिया केम 2021” की आधिकारिक घोषणा भी की।


केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि रसायन और विशेष रूप से "स्पेशियलिटी केमिकल्स" के क्षेत्र में विकास की बड़ी संभावनाएं हैं। पिछले कुछ दशकों में स्पेशियलिटी केमिक्लस की उत्पादन गतिविधियों में बड़ा बदलाव देखा गया है। ऐसी गतिविधियां यूरोपीय संघ और उत्तरी अमरीका के क्षेत्रों से अब एशिया की ओर रुख करने लगी हैं।   


श्री गौड़ा ने कहा कि भारतीय रसायन और पेट्रो रसायन उद्योग में 2025 तक एक महत्वपूर्ण भूमिका में आने की अपार क्षमता मौजूद है।उस समय तक यह उद्योग सकल घरेलू उत्पादन (जीडीपी) में 300 अरब डॉलर का योगदान करने में सक्षम हो जाएगा जबकि वर्तमान में जीडीपी में इसका योगदान 160 अरब डॉलर है।


उन्होंने कहा कि भारत सरकार आगामी तीन बल्क ड्रग पार्कों में दवा उत्पादन के क्षेत्र में मूल्य संवर्धन की संपूर्ण गतिविधियों के लिए प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम (पीएलआई) और अत्याधुनिक अवसंरचना सुविधाएं विकसित करके विनिर्माताओं को प्रोत्साहित करने के लिए उत्सुक है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव