एटीएम काट रहे बदमाशों से पुलिस की मुठभेड़, एक जख्मी, तीन फरार

 - मेवाती गैंग के बदमाशों की गिरफ्तारी से एनसीआर में एटीएम काटने की कई वारदातों का खुलासा


नोएडा। एक्सप्रेसवे थाना क्षेत्र के रायपुर गांव में शनिवार की सुबह एटीएम काट रहे बदमाशों से पुलिस की मुठभेड़ हो गई। इसमें पुलिस की गोली से एक बदमाश जख्मी हो गया। जबकि उसके तीन साथी मौके से फरार हो गए। पुलिस के अनुसार ये बदमाश मेवाती गैंग के सक्रिय सदस्य हैं। गिरफ्तार बदमाश ने नोएडा और गाजियाबाद सहित कई जगहों पर एटीएम काटकर चोरी की करने की बात स्वीकार की है।


अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने बताया कि एक्सप्रेसवे थाना क्षेत्र के सेक्टर-126 के रायपुर गांव में स्थित एचडीएफसी बैंक के एटीएम को शनिवार तड़के चार बदमाश काट रहे थे। वहां से गश्त करती हुई पीसीआर वैन निकली। पीसीआर वैन पर तैनात पुलिसकर्मियों ने बदमाशों को ललकारा तो, बदमाश कार में सवार होकर वहां से भागने लगे। उन्होंने बताया कि पीसीआर ने बदमाशों का पीछा किया और वायरलेस सेट पर घटना की सूचना दी।


उन्होंने बताया कि थाना सेक्टर-49 के थानाध्यक्ष धर्मेंद्र शर्मा उस समय बदमाशों की तलाश में घूम रहे थे। उन्होंने भी वायरलेस सेट पर संदेश सुना। उन्होंने घटनास्थल की तरफ रुख किया और पीसीआर पर तैनात पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर बदमाशों को घेर लिया। अपने को घिरा देखकर बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की। इसमें हरियाणा के नूह जिले का रहने वाला बदमाश ताहिर हुसैन जख्मी हो गया। जबकि उसके तीन साथी मौके से फरार हो गए। पकड़े गए बदमाश के पास से एक पिस्टल, कारतूस, घटना में प्रयुक्त सेंट्रो कार, एटीएम काटने में प्रयोग होने वाला गैस कटर आदि बरामद किया गया है। पुलिस फरार बदमाशों की तलाश कर रही है।


अपर उपायुक्त ने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि इन लोगों ने कुछ दिन पहले हरौला गांव में एक एटीएम मशीन काटने का प्रयास किया था। वहां असफल रहने के बाद ये लोग इंदिरापुरम क्षेत्र में गए। वहां से एक एटीएम मशीन काटकर ले गए। उन्होंने बताया कि इन बदमाशों ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एटीएम मशीन काटने की कई घटनाओं को अंजाम देना स्वीकार किया है।



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन