डीआरडीओ साइंटिस्ट के अपहरण में शामिल सुनीता के सियासी कनेक्शन से हलचल

फेसबुक वॉल पर हैं नेताओं और बालीवुड हीरो के साथ फोटो 


नोएडा। सेक्टर-77 में रहने वाले रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) में तैनात साइंटिस्ट को हनीट्रैप में फंसाकर अगवा करने के मामले में गिरफ्तार सुनीता गुर्जर के भाजपा नेताओं के साथ संबंधों को लेकर सियासी बवाल मच गया है। सुनीता के फेसबुक वॉल पर बॉलीवुड एक्टर सलमान खान और बीजेपी के स्थानीय सांसद महेश शर्मा के साथ भी फोटो अपलोड की गई है। इससे सुनीता के हाई-प्रोफाइल कनेक्शन का पता चलता है। सुनीता ने खुद को बिग बॉस-10 विनर मनवीर गुर्जर का रिश्तेदार बताया था।


बीजेपी के स्थानीय सासद डॉ. महेश शर्मा के साथ सुनीता ने फेसबुक पर एक फोटो अपलोड की है। यह फोटो किसी पब्लिक इवेंट के दौरान ली गई है। आगाहपुर गांव में बबली के नाम से मशहूर सुनीता गुर्जर ने दावा किया था कि वह बीजेपी के साथ जुड़ी हुई है। उसने खुद को पार्टी के महाराणा प्रताप मंडल का अध्यक्ष बताया था।


इस बाबत बीजेपी के नोएडा अध्यक्ष मनोज गुप्ता का कहना है कि सुनीता गुर्जर दो-तीन साल पहले सामान्य कार्यकर्ता के तौर पर पार्टी से जुड़ी हुई थी। उसके पास कोई पद नहीं था। पार्टी का सामान्य कार्यकर्ता कोई भी हो सकता है। सांसद के साथ फोटो पर सफाई देते हुए मनोज गुप्ता ने कहा कि सांसद बहुत लोगों से मिलते-जुलते हैं। 


दूसरी ओर, पुलिस का कहना है कि सुनीता के पास से दो अलग-अलग नाम के पैन कार्ड मिले हैं। सुनीता गुर्जर कई इंटरव्यू भी दे चुकी है, जिसमें उसने खुद को मनवीर गुर्जर की भाभी बताया था। एक इंटरव्यू में सुनीता ने कहा था कि लोग उसे मनवीर गुर्जर की भाभी के रूप में जानते हैं।


मनवीर गुर्जर के छोटे भाई ने साफ किया कि उनका परिवार सुनीता को सिर्फ इसलिए जानता है, क्योंकि वह उन्हीं के गांव से ताल्लुक रखती है। उसने बिग बॉस में जाने के लिए उनके परिवार से विनती की थी। उनके पास शो की 20 टिकट थी। एक टिकट उसे भी दे दी। उनके परिवार का सुनीता के साथ कोई सीधा संबंध नहीं है।


गौरतलब है कि सुनीता ने डीआरडीओ के एक वैज्ञानिक को हनी ट्रैप में फंसाकर अपहरण कर लिया था। 28 सितंबर को वैज्ञानिक को नोएडा के होटल के एक कमरे से पुलिस ने मुक्त कराया था। इस मामले में पुलिस ने सुनीता के अलावा उसके दो और साथियों को गिरफ्तार किया था।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव