नोएडा की प्रमुख संस्थाओं ने बिजली आपूर्ति में चल रही गड़बड़ियों को लेकर मुख्य अभियंता को दिया ज्ञापन

नोएडा । शहर में बिजली आपूर्ति में अत्यधिक गड़बड़ी व भ्रष्टाचार के विरुद्ध नोएडा की प्रमुख संस्थाओं ने विभाग के मुख्य अभियंता बी एन सिंह को आज उनके कार्यालय में एक विस्तृत ज्ञापन सौंपा।


मौलिक भारत के महासचिव अनुज अग्रवाल ने बिजली की आपूर्ति में बाधा से होने वाले नुकसान को बिंदुवार बताते हुए आरोप लगाया कि इससे उद्योगंांे, आइटी व मीडिया कंपनियों, ऑनलाइन पढ़ने वाले विद्यार्थियों व वर्क फ्रोम होम करने वाले जैसे लाखों लोगों को होने वाली परेशानियों के लिए विभाग जिम्मेवार है।


नोएडा लोक मंच के महासचिव महेश सक्सेना ने बताया कि ज्ञापन में बिजली आपूर्तिे अनवरत करने व लॉकडाउन के कारण ख़राब आर्थिक स्थिति के बीच “ फिक्स चार्ज” व “न्यूनतम चार्ज” न लेने की माँग की गयी है।


महेश सक्सेना ने बताया कि बिजली आपूर्ति में बाधा व अधिक बिल आने से उधोगों को चलाए रखना चुनौती हो गया है। अगर विभाग का यही हाल रहा तो अनेक उद्योगों को बंद करने की नौबत आ जाएगी। ऐसे में प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के आत्मनिर्भर भारत अभियान का क्या होगा ? क्या इसी प्रकार शहर की विश्व स्तरीय छवि बन पाएगी व विदेशी निवेश यहाँ आ पाएगा?


उन्होंने कहा कि शहर में सभी प्रमुख आइटी कम्पनियाँ व मीडिया हाउस स्थापित है व सभी के कर्मचारी वर्क फ्रोम होम कर रहे हैं। बिजली आपूर्ति में बाधा आने के कारण उनको कार्य करने में बहुत ज्यादा परेशानी हो रही है जो उचित नहीं।


महेश सक्सेना ने बताया कि ज्ञापन में बिजली विभाग केा शहर के बिजली हेल्पलाइन को अधिक प्रभावी बनाने की सलाह दी गयी है। ज्ञापन देेने वाले संस्थाओं में नोएडा लोक मंच, नोेएडा उद्यमी संगठन , फोनरवा , मौलिक भारत से अनुज अग्रवाल व उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल हैं। ज्ञापन सौंपने वालों में महेश सक्सेना ,आर एन श्रीवास्तव , राजेश बैरागी प्रशासक,अदित भटनागर व मौलिक भारत संस्था से अनुज अग्रवाल शामिल थे।


 

 

 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव