चीनी सामान के खिलाफ व्यापारी शुरू करेंगे 'चीन भारत छोड़ो अभियान' 9 से

नोेएडा


कन्फ़ेडरेशन ऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) चीनी सामान के बहिष्कार के अपने अभियान के तहत 9 अगस्त से 'चीन भारत छोड़ो अभियान' की शुरुआत करेगा। इसके तहत देश के लगभग 600 शहरों में सामाजिक दूरी एवं सुरक्षा के सभी नियम का पालन करते हुए सार्वजनिक प्रदर्शन करेंगे।सीमा पर चीन की हरकतों से देशभर में उसके खिलाफ गुस्सा है।


देश के 600 शहरों में चीनी सामान के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे व्यापारी


आगामी सभी त्योहारों में भारतीय सामान का इस्तेमाल किया जाएगा खासतौर पर इस वर्ष की दिवाली देशभर में हिंदुस्तानी दिवाली के रूप में मनाई जाएगी। व्यापारियों की संस्था कन्फ़ेडरेशन ऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) चीनी सामान के बहिष्कार के अपने अभियान के तहत 9 अगस्त से 'चीन भारत छोड़ो अभियान' की शुरुआत करेगा। आजादी की लड़ाई में इसी दिन 'अंग्रेजो भारत छोड़ो आंदोलन' की शुरुआत हुई थी।


कैट चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के लिए 'भारतीय सामान-हमारा अभिमान' नाम से एक अभियान चला रहा है। इसी के बैनर तले देशभर के व्यापारी संगठन 'चीन भारत छोड़ो' अभियान चलाएंगे। ये व्यापारी सभी राज्यों के लगभग 600 शहरों में सामाजिक दूरी एवं सुरक्षा के सभी नियम का पालन करते हुए सार्वजनिक प्रदर्शन करेंगे।


कैट के दिल्ली एन सी आर संयोजक सुशील कुमार जैन ने कहा की जिस तरह से चीन ने एक लंबी योजना के तहत पिछले 20 वर्षों में भारत के रिटेल बाजार पर कब्जा कर रखा है, उसे देखते हुए तथा बदली परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए चीनी उत्पादों से देश के रिटेल बाज़ार को आज़ाद कर आत्मनिर्भर भारतीय बाज़ार बनाना बहुत जरूरी है। इस वजह से चीन पर अपनी निर्भरता को कम करने के लिए कैट ने 'चीन भारत छोड़ो' की आवाज़ बुलंद करने का आह्वान किया है।


राखी में चीन को 4 हजार करोड़ रुपये की चपत


सुशील कुमार जैन ने कहा की हाल ही में रक्षाबंधन के त्योहार की हिंदुस्तानी राखी के रूप में मनाने के कैट के अभियान को देश के लोगों ने समर्थन दिया और चीनी राखी का पूर्ण रूप से बहिष्कार किया जिससे चीन को इस बार राखी व्यापार से 4 हज़ार करोड़ रुपए में व्यापार की चपत लगाई है उससे साफ है की यदि देश के लोग संकल्प लेकर चीनी सामान का बहिष्कार करें तो भारत का व्यापार बहुत जल्द चीन से आजादी पा सकता है और कैट के नेतृत्व में देश के 7 करोड़ व्यापारियों ने यह संकल्प मज़बूती से लिया हुआ है। 


सुशील कुमार जैन ने कहा कि देश में मनाए जाने वाले आगामी सभी त्योहारों में भारतीय सामान का इस्तेमाल किया जाएगा और चीन के किसी भी सामान का कोई उपयोग नहीं होगा। उन्होंने बताया की आगामी त्योहारों में जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी, नवरात्रि, दशहरा, धनतेरस, दिवाली, भैया दूज, छठ पूजा और तुलसी विवाह शामिल हैं। ये सभी त्योहार पूर्ण रूप से भारतीय त्योहारों में रूप में मनाए जाएंगे और खासतौर पर इस वर्ष की दिवाली देशभर में हिंदुस्तानी दिवाली के रूप में मनाई जाएगी। कैट ने इसके लिए व्यापक तैयारियां भी शुरू कर दी हैं । 


सुशील कुमार जैन ने बताया कि कैट चीन भारत छोड़ो अभियान के अंतर्गत सरकार से मांग की जाएगी कि भारत में 5जी नेटवर्क लागू करने में चीनी कंपनी हुवावे को तुरंत प्रतिबंधित किया जाए तथा जिन चीनी कंपनियों ने देश के स्टार्टअप इकाइयों में निवेश किया है, उन्हें वापस किया जाए और ऐसे स्टार्टअप को आवश्यक वित्तीय सहायता मुहैया कराई जाए। सरकार को सभी चीनी ऐप तुरंत प्रतिबंधित करने चाहिए।