यीडा ने चार आवेदकों को किया 5000 वर्गमीटर भूखंड का आवंटन : सीईओ

प्राधिकरण को मिला 17.52 करोड़ का निवेश, 1573 लोगों को मिलेगा रोजगार : डॉ. अरुणवीर सिंह


ग्रेटर नोएडा। कोविड-19 महामारी के कारण देशभर में किए गए लॉकडाउन के चरणबद्ध तरीके से खोले जाने के साथ ही यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यीडा) ने औद्योगीकरण की गति तेज कर दी है। इस क्रम में मंगलवार को प्राधिकरण ने ऑनलाइन साक्षात्कार के जरिये चार औद्योगिक भूखंडों का आवंटन किया। इससे अथॉरिटी को 17.52 करोड़ रुपये का निवेश मिला। इन उद्यमों में 1573 लोगों को रोजगार मिलेगा। यीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) डॉ. अरुणवीर सिंह ने बताया कि प्राधिकरण की सेक्टर-29 में अपैरल पार्क योजना के तहत यूपी इंवेस्टर्स समिट-2018 के तहत हस्ताक्षरित एमओयू पर अमल शुरू किया गया है। उसे योजना के तहत चौथे चरण में मंगलवार को चार आवेदकों के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये साक्षात्कार लिए गए। इनमें मेसर्स अलका इंटरप्राइजेज, मेसर्स श्रीहंस इंटरप्राइजेज, मेसर्स होम फैशन और मेसर्स सीआरवी इम्पैक्स शामिल थे। इन सभी को अपैरल पार्क योजना के तहत 5000 वर्गमीटर भूमि का आवंटन किया गया। उन्होंने बताया कि इन चारों आवेदकों को आवंटित भूमि से अथॉरिटी को 17.52 करोड़ रुपये का निवेश प्राप्त होगा। इनमें 1573 नए रोजगार का सृजन होगा, जिसका लाभ युवाओं को मिल सकेगा। सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने बताया कि सेक्टर-29 में जारी की गई अपैरल पार्क, एमएसएमई पार्क और हैंडीक्राफ्ट ओडीओपी पार्क योजना के तहत आवेदन की अंतिम तारीख 31 जुलाई है। इच्छुक आवेदक या निवेशन निवेश मित्र पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि योजना के तहत 4000 वर्गमीटर से छोटे भूखंड का आवंटन ड्रा से और इससे बड़े भूखंड का आवंटन प्रजेंटेशन और साक्षात्कार के माध्यम से किया जाएगा। ----------


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन