नोएडा एसटीएफ को बड़ी कामयाबी, अबू सलेम का खास गुर्गा गजेंद्र गिरफ्तार

 अबू सलेम और खान मुबारक के पैसे को प्रॉपर्टी में इन्वेस्ट करता था 


 डी-कंपनी का भय दिखाकर लोगों से वसूलता था रंगदारी 


नोएडा। यूपी एसटीएफ की नोएडा यूनिट और थाना सेक्टर-20 की पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। उसने मुंबई सीरियल ब्लास्ट के अभियुक्त डी-कंपनी के अबू सलेम और खान मुबारक के निकट सहयोगी गजेंद्र सिंह को नोएडा से गिरफ्तार कर लिया। गजेंद्र नोएडा के सेक्टर-20 में रहकर डी-कंपनी के लिए काम कर रहा था। 


एसटीएफ के एसपी राजकुमार मिश्रा ने बताया कि वर्ष-1993 में हुए मुंबई सीरियल ब्लास्ट का मास्टर माइंड अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम का दाहिना हाथ कहे जाने वाले अबू सलेम का खास ग ुर्गा गजेंद्र नोएडा के सेक्टर-20 में रह रहा था। उस पर थाना सेक्टर-20 में ही दो मामले दर्ज हैं। पुलिस को उसकी काफी दिनों से तलाश थी। उन्होंने बताया कि गुप्त इनपुट के आधार पर एसटीएफ ने कोतवाली सेक्टर-20 की पुलिस के साथ गजेंद्र को गिरफ्तार करने के लिए जाल बिछाया। आखिर, उसे पकड़ने में कामयाबी मिली।  


राजकुमार मिश्रा ने बताया कि पकड़ा गया गजेंद्र सेक्टर 20 में रहकर डी-कंपनी के लिए काम कर रहा था। वह अबू सलेम और खान मुबारक के पैसे को नोएडा और दिल्ली एनसीआर के दूसरे शहरों में प्रॉपर्टी में इन्वेस्ट करता था। इनता ही नहीं, वह डी-कंपनी का भय दिखाकर लोगों से रंगदारी भी  वसूलता था। 


एसटीएफ के एसपी ने बताया कि वर्ष-2014 में दिल्ली के एक बिजनेस मैन से प्रॉपर्टी के नाम पर गजेंद्र ने एक करोड़ 80 लाख रुपये इसने हड़प लिए थे। जब पैसे वापसी का दबाव पड़ने लगा, तब उसने बिजनेस मैन पर खान मुबारक के शूटर्स से सेक्टर 18 में फायरिंग करा दी। इसके लिए गजेंद्र ने खान मुबारक को 10 लाख रुपये दिए थे। उन्होंने बताया कि जिस रास्ते से उस पैसे का भुगतान किया गया था, वो मनी ट्रेल भी मिली है। एसटीएफ के एसपी का कहना है कि गजेंद्र को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। उन्होंने उम्मीद जताई कि अभी कई बड़े खुलासे हो सकते हैं। उन्होंने इशारा किया कि एसटीएफ के रडार पर कई लोग हैं, जिनकी गिरफ्तार शीघ्र हो सकती है।